DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वरना ठंड के शिकार हो सकते हैं आप

मिर्जापुर। वरिष्ठ संवाददाता। पहाड़ो पर बर्फबारी, मैदानी क्षेत्र में पड़ेगा भारी-यह अनुमान शीतलहर और गलन के रूप में सच साबित हुआ। तेज हुई सर्द हवा के चलते वातावरण में गलन भी हावी होती गई। मौसम विभाग का अनुमान है कि 5 फरवरी तक गलन-कोहरा से राहत नहीं मिलेगी।

गलन में शनिवार की रात तो ठिठुरी ही, दोपहरिया भी कांपती लगी। दिन में धूप निकली मगर हवा के आगे उसका प्रभाव नहीं महसूस हुआ। अधिकतम तापमान में गिरावट के चलते लोगों को अधिक गलन का एहसास हुआ। मौसम में इस बदलाव को पश्चिमी विक्षोभ के चलते पहाड़ी क्षेत्रों में शुरू बर्फबारी का परिणाम बताया जा रहा है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण 7 फरवरी के आसपास मौसम में फिर बदलाव संभावित है। चिकित्सकों के अनुसार थोड़ी सी भी लापरवाही आपको और आपके बच्चों को ठंड चपेट में ले लेगी।

ऐसी स्थिति में बच्चों को गर्म कपड़े पहनाना आवश्यक है। कोशशि करें कि उन्हें पीने के लिए गर्म पानी ही दें। टंकी का ठंडा पानी और ठंडा भोजन दोनों ही नुकसान पहुंचा सकता है। अभाव में जिंदगी काटने वाले परिवार के बच्चों को ठंड के दिनों में अलाव की अत्यधिक आवश्यकता है। लेकिन नगर पालिका, पंचायत से लगातय ग्रामीण क्षेत्रों के किसी भी चट्टी चौराहे परअलाव नहीं चल रहा है। इस बाबत लोगों का कहना है कि ठंड के समय में राहत पहुंचाने का सारा कोटा पहले ही समाप्त हो चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वरना ठंड के शिकार हो सकते हैं आप