DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरवरी में ऐसी सर्दी, छह पर पारा

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता।  पछिया हवा के साथ हवा में नमी की मात्रा 90 प्रतिशत तक होने से रविवार को उत्तर बिहार में ठंड के साथ शीतलहर और बढ़ गयी। लगातार सातवें दिन अधिकतम व न्यूनतम तापमान में कमी का सिलसिला जारी रहा । उत्तर बिहार में फरवरी के प्रथम सप्ताह में अबतक इस तरह की सर्दी कभी नहीं पड़ी थी।

रात का तापमान सीजन का सबसे कम छह डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। रविवार की दोपहर बाद तक धूप नहीं निकलने के साथ दोपहर में अधिकतम तापमान के 16.5 डिग्री रहने से जनजीवन पूरी तरह ठहर गया। मौसम विभाग ने उत्तर बिहार में अगले चार दिनों तक शीतलहर जारी रहने की बात कही है। धूप निकलने के बाद भी ठंड का असर जारी रहने का अनुमान है। आम तौर पर मकर संक्राति व 26 जनवरी के बाद उत्तर बिहार में ठंड से राहत मिलने का सिलसिला शुरू हो जाता था, लेकिन इस वर्ष एक सप्ताह से ठंड व शीतलहर बढ़ती ही जा रही है।

दूसरी ओर पछिया हवा की रफ्तार आठ से 12 किलो मीटर प्रति घंटे होने से लोग ठंड का अनुभव करते रहे। अत्यधिक ठंड के कारण सरकारी व निजी अस्पतालों में रोगियों का संख्या काफी बढ़ गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फरवरी में ऐसी सर्दी, छह पर पारा