DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेप के दोषी को दस साल कैद की सजा

रेप के दोषी को दस साल कैद की सजा

दिल्ली की एक अदालत ने एक युवक को अपनी मां की मदद से एक विवाहित महिला को खाने में नशीला पदार्थ दे कर उससे रेप करने के जुर्म में 10 साल कैद की सजा सुनाई है। उसकी मां को सात साल कैद की सजा सुनाई गई है।

अदालत ने 20 वर्षीय सुखदेव और उसकी मां गीता (45) को पीड़ित का अपहरण कर उसे विवाह के लिए बाध्य करने, उसे जहर देने और जबरन बंद कर रखने का दोषी ठहराया। सुखदेव को 34 वर्षीय एक महिला से भी रेप करने का दोषी ठहराया गया है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एमसी गुप्ता ने बताया कि मेरे विचार से भारतीय दंड संहिता की धारा 328 और 342 तथा 366 के तहत सुखदेव और गीता अपराध में संलिप्त रहे और आरोपी सुखदेव भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के तहत भी अपराध में शामिल था। तथ्यों और सबूतों से यह साबित होता है।

महिला ने अदालत को बताया कि सुखदेव और वह सहयोगी थे और उनकी पहचान थी। 10 जुलाई 2012 की सुबह वह कार्यालय जा रही थी तब उसे गीता मिली और यह कह कर उसे अपने घर ले आई कि अगर वह उसके पुत्र से नहीं मिलेगी तो वह मर जाएगा।

अभियोजन पक्ष के अनुसार, सुखदेव और गीता ने उसे कुछ खाद्य सामग्री दी, जिसमें नशीला पदार्थ मिला था। खाने के बाद वह बेहोश हो गई और सुखदेव ने उससे रेप किया। पुलिस के अनुसार, सुखदेव ने महिला का अपहरण कर लिया और दिल्ली लाकर उसे एक कमरे में 5-6 दिन बंद रखा। इस दौरान उसने कई बार महिला से रेप किया। फिर वह उसे वापस ले गया और छोड़ दिया।

महिला के अनुसार, रिहाई के बाद उसने आदर्शनगर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद सुखदेव और गीता को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने खुद को बेकसूर बताते हुए कहा कि उन्हें मामले में फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिला अपने पति के साथ खुश नहीं थी और सुखदेव से शादी करना चाहती थी, लेकिन गीता के मना करने पर उसने झूठी शिकायत दर्ज करा दी। अदालत ने उनकी दलील खारिज कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेप के दोषी को दस साल कैद की सजा