DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में पूंजीनिवेश के लिए माहौल जरूरी : नथवाणी

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो। राज्यसभा के नवनिर्वाचित सदस्य परमिल नथवाणी ने शनिवार को विधानसभा के प्रभारी सचवि सह निर्वाची पदाधिकारी सुशील कुमार सिंह ने सर्टिफिकेट प्राप्त कर लिया। नथवाणी सर्टिफिकेट लेने अहमदाबाद से विशेष विमान से रांची आए हुए थे।

पत्रकारों से बातचीत में नथवाणी ने कहा कि झारखंड में पूंजीनिवेश के लिए बेहतर माहौल तैयार करने की जरूरत है। खनिज संपदाओं का भंडार होते हुए भी यहां उद्योग का विकास नहीं हो रहा है। जमशेदपुर, धनबाद और बोकारो में पुराने उद्योग हैं।

बाकी शहरों में उद्योग नहीं हैं। यहां पावर और फूड प्रोसेसिंग के सेक्ट में काफी संभावनाएं हैं। बेरोजगारी दूर करने के लिए उद्योगों की स्थापना करना जरूरी है।

बाहरी होने की बात को गलत साबित किया : नथवाणी ने कहा कि राज्यसभा का उनका पिछला कार्यकाल काफी संतोषप्रद रहा है। पिछली बार जब वे निर्दलीय खड़े हुए थे, तो बाहरी होने की बात कही गई थी। इसे उन्होंने गलत साबित कर दिया है। झारखंड को उन्होंने दिल से अपनाया है।

यही कारण है कि इस बार निर्दलीय होते हुए भी भाजपा और आजसू पार्टी ने समर्थन दिया है। उन्हें जाति-धर्म से कोई लेना-देना नहीं है। झारखंड की गरीबी पर कहा कि इसे दूर करना सरकार का काम है। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा पर ध्यान देने की जरूरत है। समाज के भटके लोगों को मुख्य धारा में लाने का प्रयास करना चाहिए।

विधायकों ने किया निराश : नथवाणी ने कहा कि उन्होंने झारखंड के विधायकों को पत्र लिखकर क्षेत्र की समस्याएं भेजने का आग्रह किया था, ताकि उसे राज्यसभा में उठा सकें।

विधायकों ने इसमें दिलचस्पी नहीं ली। बाद में उन्होंने समाचार पत्रों में प्रकाशित विषयों पर सवाल पूछना शुरू किया। पिछले कार्यकाल में 600 से अधिक सवाल उठाए थे।

नथवाणी ने अच्छा काम किया : सीपी सिंह

भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी के पास अपना उम्मीदवार खड़ा करने के लिए पर्याप्त संख्या बल नहीं था। अन्त में नथवाणी जी को समर्थन देने का निर्णय लिया गया। इनका पिछला कार्यकाल बेहतर रहा है। इसे देखते हुए समर्थन दिया गया।

सिंह सर्टिफिकेट लेने के समय नथवाणी के साथ थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड में पूंजीनिवेश के लिए माहौल जरूरी : नथवाणी