DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केस की गलत जांच में फंसे दारोगा

वरीय संवाददाता पटना। पटना के टाउन एएसपी बलिराम कुमार चौधरी और सचिवालय डीएसपी डॉ. मो. सबिली नोमनी ने पदभार ग्रहण कर काम शुरू कर दिया है। दोनों अधिकारी पुराने केसों की फाइल मंगा कर अनुसंधानकर्ता से केस की ताजा स्थिति समझ रहे हैं। हालांकि थानों में पेंडिंग केसों की संख्या सैकड़ो में होने से उन्हें परेशानी हो रही है। शास्त्रीनगर में गंभीर मामलों से संबंधित करीब 200 से ज्यादा केस पेंडिंग हैं। गर्दनीबाग की स्थिति भी कुछ ऐसी ही है। केसों के निष्पादन में एसके पुरी और एयरपोर्ट थाने की स्थिति ठीक बताई जा रही है।

केस का गलत तरीके से अपने फायदे के लिए अनुसंधान करने के लिए सचिवालय डीएसपी ने एक दारोगा के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा है। सचिवालय डीएसपी सबिली ने बताया कि जिस केस में अनुसंधानकर्ता गलत पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कई बार केस ट्रू होने के बाद भी वारंट की मांग नहीं की गई है। इससे आरोपी आराम से घूम रहे हैं। जो बेहतर काम करेंगे उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा। सबिली ने बताया कि बेहतर तरीके से केसों का त्वरित निष्पादन करना उनका लक्ष्य है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केस की गलत जांच में फंसे दारोगा