DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ मशीनों की खरीद में 25 लाख ज्यादा दिये

भागलपुर। कार्यालय संवाददाता। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में खरीदी गई स्टरलाइजेशन मशीन की जांच करने मुख्यालय से आई स्वास्थ्य विभाग की चार सदस्यीय टीम शिनवार को लौट गई। शिनवार सुबह आंख एवं ईएनटी विभाग में लगी मशीन की जांच की गई।

प्रारिंभक जांच में यह बात सामने आई है कि अस्पताल में आठ स्टरलाइजेशन मशीन लगी है और सभी की खरीद में तीन से साढ़े तीन लाख रुपए ज्यादा दिये गए हैं। प्रति मशीन साढेम् छह लाख रुपए तक में खरीदी गई है।

टीम में शामिल स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख डा. सुरेंद्र प्रसाद ने बताया कि महालेखाकार ने ज्यादा कीमत पर स्टरलाइजेशन मशीन खरीदने पर आपित्त की है। इसलिए इसकी जांच करने के लिए टीम आई है। प्रारिंभक अनुमान है कि आठ मशीनों की खरीद में उचित कीमत से करीब 25 लाख रुपए ज्यादा खर्च किये गए हैं।

हर मशीन की खरीद पर तीन से साढ़े तीन लाख रुपए ज्यादा खर्च किए गए हैं। खरीद के सभी कागजात ले लिए गए हैं। अब इसकी समीक्षा की जाएगी। इसके बाद अिंतम रिपोर्ट तैयार होगी। इसमें सप्ताहभर का समय लग जाएगा। रिपोर्ट मुख्यालय को सौंपी जाएगी।

अगर वास्तव में खरीद में गड़बड़ी हुई होगी तो संबंधित पदाधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि दो तरह से मशीन की खरीद अस्पतालों में होती है। एक एल वन और दूसरा एल टू।

एल वन यानी न्यूनतम कीमत और एल टू यानी अधिकतम कीमत पर। प्रारिंभक जांच में ऐसा प्रतीत होता है कि एल टू से भी अधिक कीमत पर मशीन की खरीद की गई है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अलग-अलग विभागों के अलावा केंद्रीय स्टरलाइजेशन यूनिट में तीन मशीन लगी है। ये सभी मशीन चार साल पहले खरीद की गई थी।

सूत्रों के मुताबिक आनन-फानन में मशीन की खरीद की गई थी। उस वक्त कुछ दिन पहले ही वर्तमान प्राचार्य डा. अर्जुन कुमार सिंह अधीक्षक के पद से मुक्त हुए थे और डा. विनोद प्रसाद अस्पताल अधीक्षक बने थे।

हालांकि खरीदी गई मशीन नेटस्टेल कंपनी की है। इस कंपनी की मशीन देश के सभी बड़े अस्पतालों में लगी है। जांच करने पहुंची टीम में निदेशक प्रमुख के अलावा संयुक्त निदेशक प्रभा सिंह, वित्तीय सलाहकार शिवनंदन प्रसाद, पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के प्राचार्य डा. एनपी यादव शामिल थे।

इस दौरान भागलपुर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. अर्जुन कुमार सिंह, अस्पताल अधीक्षक डा. रामचिरत्र मंडल, पूर्व अधीक्षक डा. विनोद प्रसाद सहित अस्पताल के कई वरीय चिकित्सक मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आठ मशीनों की खरीद में 25 लाख ज्यादा दिये