DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पड़ोसी ने कराया था मासूम का अपहरण

गाजियाबाद। हमारे संवाददाता। लोनी से मासूम सोभित अपहरणकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पड़ाेस में रहने वाला युवक ने ही पैसे की लालच में कारोबारी के बेटे को दोस्तों से अगवा करा दिया। पुलिस ने पड़ोसी समेत पांचों अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अपहत्र्ताओं की दिल्ली पुलिस को भी तलाश है।

मासूम की सकुशल बरामदगी और अगवा करने वालों की गिरफ्तारी करने वाली लोनी पुलिस टीम को एसएसपी ने पांच हजार के इनाम देने की घोषणा की है। एसपी देहात जगदीश शर्मा ने प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीते 28 जनवरी की शाम लोनी के इंद्रापुरी से कारोबारी रज्जन लाल के चार वर्षीय पुत्र सोभित को घर के बाहर खेलते हुए अगवा कर लिया गया। बाइक सवार दो युवक बच्चों को अगवा कर ले गए। बच्चों को साहबिाबाद थाना क्षेत्र में और फिर कई अन्य क्षेत्रों में छुपा कर रखा गया।

बच्चों के रोने पर उसे चॉकलेट, टॉपी आदि दी जा रही थी। एसपी देहात ने बताया कि गिरफ्तार पड़ोसी छोटू उर्फ राजेश, दीपक, सचिन उर्फ बबलू, गौरव यादव उर्फ बंटी, और मंजूर आलम है। दीपक व मंजूर साहबिाबाद क्षेत्र में गौरव जाफराबाद दिल्ली, और सचिन शाहदरा का रहने वाला है। रज्जन का बिजली का बोर्ड बनाने का काम है। ग्रेजुएट पास छोटू के इशारे पर दीपक व सचिन से बाइक से सोभित को अगवा किया था। दोनों ने साहबिाबाद में रहने वाले मंजूर को बच्चा दे दिया।

साहबिाबाद स्टेशन के पास ठेली लगाने वाला मंजूर चोरी की मोबाइल फोन खरीदता है। उसके चोरी के सिम व मोबाइल से दीपक व सचिन ने 30 लाख की फिरौती की मांग दो बार की गई। पुलिस ने कारोबारी रज्जन से पूछताछ के बाद शक के आधार पर दर्जनों लोगोंे से पूछताछ की। कुछ मदद फिरौती वाले फोन सर्विलांस से लगा। इसके बाद पूरे गिरोह का भंडाफोड़ कर दिया गया। गौरव को छेाड़ सभी नौसिखिए हैं। एसएसपी ने गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में लोनी के इंस्पेक्टर गोरखनाथ यादव, दरोगा संजीव शुक्ला, अमित कुमार, आजाद पाल समेत पुलिस टीम को पांच हजार का नगद ईनाम देने की घोषणा की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पड़ोसी ने कराया था मासूम का अपहरण