DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांग मनवाकर ही मानेंगे राजस्व कर्मचारी

 कालसी / हमारे संवाददाता। कैबिनेट फैसले के विरोध में पर्वतीय पटवारी महासंघ की कलमबंद हड़ताल शनिवार को भी जारी रही। महासंघ पदाधिकारियों ने सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करते हुए मांगों के निस्तारण न होने तक हड़ताल जारी रखने का ऐलान किया है। उधर, पटवारियों की हड़ताल से परेशान आ चुके क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेज कर जल्द हड़ताल समाप्त कराने की गुहार लगाई है।

मिनिस्टीरियल कर्मचारी संवर्ग कोटे से दस प्रतिशत पदोन्नति नायब तहसीलदार के पद पर करने के मंत्रीमंडल के फैसले के विरोध में कालसी तहसील पर पटवारियों आंदोलन जारी रहा। प्रदर्शनस्थल पर हुई सभा में पटवारियों को सम्बोधित करते हुए कालसी अध्यक्ष तिलकराम जोशी ने कहा कि सरकार पटवारियों को अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा कि शासन के लिखित शासनादेश तक पटवारी मानने वाले नहीं हैं। उन्होंने सभी कर्मचारियों से मांगों के निस्तारण न होने तक हड़ताल पर डटे रहने की अपील की है।

इस मौके पर पटवारी संघ के जिलाध्यक्ष जीवन सिंह चौहान, उमेश पंत, किशोरी दत्त, पूरणसिंह, स्वराज सिंह, मुन्ना सिंह चौहान, तिलक राम जोशी, रोशनलाल, राधेश्याम बिजल्वाण, पंचम सिंह नेगी, असाड सिंह, माधोराम शर्मा आदि पटवारी मौजूद रहे। उधर, पटवारियों की हड़ताल से परेशान क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेज कर पटवारियों की हड़ताल जल्द समाप्त कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पटवारियों के हड़ताल पर होने से जहां कानून-व्यवस्था लड़खड़ा गयी है, वहीं तहसील में प्रमाण-पत्र आदि के कार्य ठप पडेम् हैं।

उन्होंने कहा कि करीब एक महीने से पटवारियों के हड़ताल पर होने से लोग परेशान हैं। पत्र में श्याम सिंह चौहान, आरएस तोमर, मदन सिंह, कुंदन सिंह, संतराम, राधेश्याम चौहान, आशीष कुमार, विवेक तोमर, आनंद तोमर आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मांग मनवाकर ही मानेंगे राजस्व कर्मचारी