DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबों को नहीं मिलता योजनाओं का लाभ

 लखनऊ। कार्यालय संवाददाता। शहरी गरीबों को बेहतर बनाने के लिए चलाईगईं सरकारी योजनाएं राजनीितक से प्रेिरत हैं। जरूरतमंदों को इसका लाभ नहीं मिल पाता। यह कहना है प्रो. उत्तम भोइते का। महाराष्ट्र से आए पूर्व कुलपित प्रो. भोइते शिनवार को लखनऊ विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग में विकास में नगरीय गरीबी विषयक सेमिनार को संबोिधत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आमतौर पर नगरीय िनयोजन (शहर को विकिसत करने, नागिरकों को सुख-सुविधाएं) की नीितयों में शहरी गरीब को किनारे कर दिया जाता है।

एक बड़े तबके को नजरअंदाज किए जाने के कारण यह नीितयां प्रभावी नहीं हो पाती हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रितकुलपित प्रो. एके सेन गुप्ता ने कहा कि समाज में वर्गो के बीच जो अंतर है,समाज वैज्ञािनक उसे बेहतर ढंग से समझकर उसे दूर करने का सुझाव रख सकते हैं। लविवि समाजशास्त्र विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. आभा अवस्थी ने कहा कि आर्थिक वृिद्ध इसका समाधान नहीं है। सरकार जब तक इनको केंद्र में रख कर योजना नहीं बनाएगी, तब तक इनका समग्र विकास नहीं हो पाएगा।

संगोष्ठी में विभागाध्यक्ष प्रो. राम गणेश, ऑक्सफैम के फारुख रहमान खान, संयोजक सुकांत चौधरी ने अपने विचार रखे। ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गरीबों को नहीं मिलता योजनाओं का लाभ