DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केश लोचन समारोह का किया गया आयोजन

कुरावली। हिन्दुस्तान संवाद। कस्बा स्थित शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में जैन मुनियों का केश लोचन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में जैन समुदाय के लोग उपस्थित रहे। केश लोचन समारोह को संबोधित करते हुए माताजी आर्यिका सुनयमति ने कहा कि केश लोच प्रक्रिया जैन मुनियों के शरीर के मोह ममत्व के वैराग्य उत्पत्ति का निमित्त है। शरीर से मोह को दूर करने के लिए जैन मुनि की दीक्षा लेते समय केश लोचन की प्रक्रिया अमल में लाई जाती है।

केश लोचन प्रक्रिया के पश्चात मुनियों को जैन मुनि की उपाधि दी जाती है। जैन मुनि संसार की मोह-माया दूर होने का उपदेश देते हुए आत्मस्वरूप में रम जाते हैं। इनके लिए संसार असार है, केवल आत्मा ही सार है। केश लोचन समारोह में आचार्य श्री 108 सुन्दरसागर जी महाराज द्वारा ससंघ विराजमान होकर मुनि सुसृत सागर व मुनि यशोदर सागर का केश लोचन किया गया। इस अवसर पर प्रवीन जैन नाती, सुनील जैन, ऋषभ जैन, नगेन्द्र जैन, बब्बन जैन, सुशील जैन, रजत जैन, नरेन्द्र जैन भुल्ले, जयकुमार जैन,सोनू जैन, अभिषेक जैन, लालू जैन, अखिल जैन, अमन जैन, मोन्टी जैन, राजीव टनाटन बाहरी जनपद के लोग सहित जैन समुदाय के लोग उपस्थित रहे।

फोटो-28 कुरावली के जैन मंदिर में केश लोचन समारोह में जैनमुनि का केश लोचन करते अन्य मुनि।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केश लोचन समारोह का किया गया आयोजन