DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

द्रमुक में अंतर्कलह से जयललिता को फायदा

द्रमुक में अंतर्कलह से जयललिता को फायदा

तमिलनाडु की राजनीति में आया नया मोड़ जयललिता को लाभ पहुंचा सकता है। द्रमुक में अंदरूनी संकट जारी है। इस स्थिति में अन्नाद्रमुक लोकसभा चुनाव में अहम भूमिका निभा सकती है। ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि तमिलनाडु और पुडुचेरी की 40 संसदीय सीटें लोकसभा चुनाव के बाद नई संसद की सूरत तय करने में खासी भूमिका अदा करेंगी। जयललिता ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह वाम को छोड़कर किसी भी दूसरी राष्ट्रीय पार्टी के साथ चुनाव के पहले गठबंधन करने को तैयार नहीं हैं।

द्रमुक का अंदरूनी संकट लगभग साढ़े तीन साल से चल रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि जयललिता की प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा भी इस बार परवान चढ़ सकती है और इसके चलते वह अपने व्यक्तिगत मित्र नरेंद्र मोदी को दक्षिण में प्रभाव जमाने का कोई मौका नहीं देने में कतई संकोच नहीं करेंगी। छोटे बेटे स्टालिन और बड़े अलागिरी के झगड़े को सुलझाने में जुटे द्रमुक प्रमुख करुणानिधि को इस समय कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है।

दूसरी ओर कांग्रेस भी यह तय नहीं कर पा रही है कि उसे क्या करना चाहिए। 2011 में विधानसभा चुनाव में जयललिता की पार्टी को 38.4 फीसदी वोट मिले थे, जबकि मतदान सर्वेक्षण अन्नाद्रमुक को केवल 27 फीसदी वोट पर समेट रहे थे। अन्नाद्रमुक के खिलाफ कांग्रेस, द्रमुक और डीएमडीके ने सैद्धांतिक गठबंधन किया था, लेकिन न तो कांग्रेस और न ही द्रमुक इस गठबंधन को कामयाब बना पाईं, क्योंकि अभिनेता विजयकांत की पार्टी डीएमडीके ने ऐन मौके पर जयललिता के खिलाफ शामिल होने से इनकार कर दिया।

2011 में विधानसभा चुनाव के दौरान विजयकांत और जयललिता के बीच मतभेदों के बाद डीएमडीके ने पांच से छह फीसदी वोट अपने पक्ष में किए। कई मतदान सर्वेक्षणों के मुताबिक दक्षिण में मोदी का प्रभाव बढ़ाने के लिए भाजपा विजयकांत से हाथ मिला सकती है। डीएमडीके को लगता है कि भाजपा मोदी के असर के कारण 15-16 फीसदी वोट पा सकती है। भाजपा के साथ एमद्रमुक और पीएमके पहले से हैं।

ऐसे में भाजपा अब क्षेत्रीय पार्टियों से गठबंधन करना चाहती है। उसकी नजर इस बार कन्याकुमारी, कोयंबटूर, तिरुची, तिरुपुर और नीलगिरी की लोकसभा सीटों पर हैं। भाजपा ने यहां पर 1998-99 में जीत हासिल की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:द्रमुक में अंतर्कलह से जयललिता को फायदा