DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंडोनेशिया से आए एयरोब्रिज के उपकरण

रांची। नए टर्मिनल के एयरोब्रिज के उपकरणों का खेप बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर पहुंच चुका है। इंडोनेशिया से मंगाए गए दो टनेल हैं। स्प्रिंग सिस्टम से लैस एयरब्रिज के टनेल की लंबाई 50 फीट है, जो खुलने पर 150 फीट तक बढ़कर होने की क्षमता है। नट-बोल्ट पर कसी जानेवाला यह टनेल विमान के आने पर उसके दरवाजे की ऊंचाई के हिसाब से फीट हो जाएगी। जिससे यात्री विमान के अंदर से होकर सीधे टनेल होते हुए टर्मिनल पहुंच जाएंगे।

एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक इंडोनेशिया से समुद्र के रास्ते छह टनेल और उससे जुड़े उपकरण मंगाए गए थे। इसमें दो भुवनेश्वर एयरपोर्ट, एक चेन्नई, एक गोवा एयरपोर्ट पर भेजा गया है। एयरपोर्ट अधिकारियों के अनुसार टर्मिनल भवन से जुड़े फिक्स एयरोब्रिज के लिए टनेल, रोटूंडा को बड़े नट और बोल्ट से कसे जाएंगे। एक धुरी पर कायम टनेल झूलती हुई रोटूंडा की सहायता से सामने खड़ी किसी भी श्रेणी के विमान के दरवाजे पर लग जाएगा। इससे विमान से बाहर निकलने वाले यात्री टनेल होते हुए टर्मिनल भवन में आ जाएंगे।

टनेल 175 डिग्री तक घूम सकता है। इससे टनेल को दरवाजे तक लाने में सहायता मिलेगी। एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक मार्च तक दोनों एयरोब्रिज बनकर तैयार हो जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंडोनेशिया से आए एयरोब्रिज के उपकरण