DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैयतों को बड़ी राहत, भू-माफियाओं पर शिकंजा

गिरिडीह शाहिद इमाम। लम्बे समय के बाद रैयतों को बड़ी राहत देने के उद्देश्य से स्थानीय प्रशासन 01 फरवरी से लगातार तीन दिनों का शिविर लगा रहा है। शिविर में खतियानी जमीनों को कम्प्यूटरीकृत करने की योजना है। तीन दिवसीय शिविर राजस्व कर्मचारी के दफ्तरों में लगाया जाएगा। यह योजना एनएलआरएमपी (नेशनल लैंड रिकार्ड मॉडिलाईजेशन प्रोगाम) के तहत किया जाएगा। यह सब कार्य बढ़ते भू-माफियाओं की हरकतों को देखते हुए किया जा रहा है।

गिरिडीह सीओ अनवर हुसैन ने कहा कि एनएलआरएमपी योजना के तहत सभी खतियानी जमीन कम्प्यूटरीकृत होगी। एक फरवरी से तीन फरवरी तक शिविर लगाया जा रहा है। यह शिविर प्रखंड के सभी राजस्व कर्मचारी के दफ्तरों में लगाया जाएगा। कहा कि रैयतों को इसमें खतियान के कागजातों को लेकर आना है।

इसके बाद उनकी जमीन को कम्प्यूटर में लोड कर दिया जाएगा। कहा कि यह योजना रैयतों के लिए लाभकारी के साथ बड़ी राहत देनेवाली है। आजादी के इतने वर्षो बाद यह योजना लाई गई है जो ऐतिहासिक कदम से कम नहीं है।

कहा कि विवादित जमीनों पर लगाम लगाने के साथ यह योजना जालसाजी कर जमीन खरीद-बिक्री करनेवालों के चेहरों को बेनकाब कर नकेल कसने का काम करेगी। कहा कि खतियान नहीं होने पर जमीनों को संदेहास्पद श्रेणी में देखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रैयतों को बड़ी राहत, भू-माफियाओं पर शिकंजा