DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस ने किया फर्जी कंपनी का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार

बोधगया। हमारे प्रतिनिधि। बोधगया में ग्लोबल नामक फर्जी कंपनी का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। इस सिलसिले में पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया है। कंपनी द्वारा बेरोजगार युवकों को झांसा देकर नियुक्त किया जाता था तथा उससे 15 हजार रुपये गारंटी मनी लेकर सौन्दर्य प्रसाधन बेचने के लिए मजबूर किया जाता था। सौन्दर्य प्रसाधन की कीमत 76 सौ रुपये निर्धारित थी।

कंपनी द्वारा ठगे गये शविराम नामक एक युवक ने विद्रोह कर दिया तथा बोधगया पुलिस को सारी जानकारी दी। इसी के बाद बोधगया पुलिस ने गुरुवार की देर शाम में बोधगया के भागलपुर स्थित कंपनी के मुख्यालय में छापेमारी की तथा सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

इसकी जानकारी सिटी एसपी चंदन कुशवाहा तथा बोधगया के थानाध्यक्ष नरेश कुमार ने दी। ग्लोबल नामक कंपनी के भागलपुर स्थित मुख्यालय में छापेमारी करके बरामद किये गये अभिलेखों से पुलिस को पता चला कि यह दो अन्य नामों यूनाइटेड इंटर प्राइजेज तथा ग्लेज ट्रेडिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम से धंधा करती है।

बड़ी संख्या में डिक्लरेयशन फार्म तथा शपथ पत्र आदि कंपनी के दफ्तर से पुलिस ने जब्त किया है। बोधगया थाने में कंपनी के खिलाफ कांड संख्या 406, 420, 120बी, 21/14, 34 आइपीसी, 3/4/6 द प्राइस चीट्स एण्ड मनी सकरुलेशन स्कीम बैनिंग एक्ट 1978 दिनांक 30/01/2014 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इस संबंध में विपिन कुमार, अतुल कुमार भारती, सुरेन्द्र कुमार, शवि कुमार, अमर कुमार, युगल किशोर पासवान तथा दीपक नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि कंपनी द्वारा बेरोजगार युवकों को नौकरी का झांसा देकर 15 हजार रुपये गारंटी मनी जमा करवाकर कंपनी में नियुक्त किया जाता था।

इसके बाद उसके नाम पर 76 सौ रुपये का सौन्दर्य प्रसाधन का किट दिया जाता था और चार सदस्य बनाने का निर्देश दिया जाता था। प्रति सदस्य 76 सौ रुपये का किट बेचने का निर्देश दिया जाता था। युवक से उसके जानकार सौ लोगों का नाम पता भी मांगा जाता था ताकि कंपनी उसके साथ व्यवसाय कर सके।

उन्नाव जिले के शविराम नामक युवक ने कंपनी के खिलाफ जब विद्रोह कर दिया तब उसके साथ मारपीट की गयी। इसी के बाद वह बोधगया पुलिस की शरण में पहुंच गया तथा उसकी शिकायत पर बोधगया पुलिस ने कंपनी के भागलपुर गांव स्थित दफ्तर में छापेमारी कर कंपनी की जाली का भंडाफोड़ कर दिया।

मिथिलेश यादव नामक ठगी का शिकार युवक कंपनी के खिलाफ वादी बना है। मै सिर्फ मकान मालिक थाबोधगया थानान्तर्गत भागलपुर गांव में जिस मकान में ग्लोबल नामक कंपनी संचालित थी उसके मालिक जितेन्द्र सिंह ने कहां है कि मैं सिर्फ मकान मालिक हूं और इस कंपनी से मेरा कोई लेना देना नहीं है। जितेन्द्र सिंह बोधगया थाने में ही मौजूद थे। पुलिस ने उन्हें भी कंपनी के खिलाफ गवाह बनाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस ने किया फर्जी कंपनी का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार