DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मथुरापुर का शराब विक्रेता बिरजू का हत्यारा गिरफ्तार

कहलगांव। निज प्रतिनिधि। कहलगांव पुलिस ने मुंगेर के शातिर अपराधी शंभू तांती को गिरफ्तार कर शविनारायणपुर सहायक थानान्तर्गत मथुरापुर के शराब व्यवसायी विजय सिन्हा उर्फ बिरजू राम की हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने बिरजू हत्याकांड में शामिल इस सुपारी किलर को शुक्रवार अहले सुबह मथुरापुर गांव से गिरफ्तार किया। मुंगेर नौवागढ़ी का शातिर अपराधी शंभू तांती 40 को पुलिस ने गुप्त सूचना और मोबाइल टावर लोकेशन के आधार पर उसके रशि्तेदार कपूर तांती के मवेशी खटाल से गिरफ्तार किया।

शंभू के पास से पुलिस ने एक देसी पिस्तौल और तीन गोली भी बरामद किए हैं। एएसपी सह एसडीपीओ नीरज कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार शंभू ने जुर्म कबूल करते हुए हत्याकांड में शामिल अन्य लोगों के नाम का भी खुलासा किया। शराब के कारोबार में पार्टनर शिवनारायणपुर सहायक थाना क्षेत्र के संथाली टोला गांव के युगल तांती ने शंभू को पचास हजार में बिरजू की हत्या की सुपारी दी थी। हत्या के बाद युगल ने शंभू को महज 22 हजार रुपये भुगतान किया।

हत्याकांड में प्रत्यक्ष तौर पर युगल और शंभू समेत तीन लोग शामिल थे। निकट के गांव का रहने वाले तीसरे अपराधी का नाम पुलिस फिलहाल गोपनीयता के ख्याल से उजागर नहीं करना चाहती है। पुलिस ने इन तीनों के अलावा अन्य लोगों की संलिप्तता की भी संभावना जताई है। मालूम हो कि बिरजू की दो जनवरी की रात लाइसेंसी कंपोजिट शराब दुकान के निकट उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जब वह दुकान बंद कर घर लौट रहा था।

घटना के बाद मथुरापुर में काफी बावेला मचा था। आक्रोशित लोगों ने घटना के विरोध में सड़क जाम और बाजार बंद कर दिया था। मृतक के भाई ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। एएसपी ने बताया कि पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान कर घटना में शामिल अपराधियों की धड़पकड़ के लिये सघन छापेमारी जारी रखी थी।

बीती रात पुलिस को शंभू के मथुरापुर आने की पक्की सूचना मिली। शिवनारायणपुर सहायक थानाध्यक्ष राघवेन्द्र कुमार और कहलगांव थाना के अवर निरीक्षक जे पी यादव समेत खासी तादाद में पुलिस बल को छापेमारी में लगाया गया।

उसके मोबाइल को सर्विलांश पर रखा गया था। टावर लोकेशन के आधार पर जब पुलिस उसके करीब पहुंची और उसके मोबाइल पर कॉल किया तो रिंग होते ही उसने मोबाइल का स्विच ऑफ कर भूसे के ढेर में घुसा दिया। लेकिन इस बीच पुलिस ने मोबाइल के रिंग की आवाज सुन ली और उसे धर दबोचा।

पूछताछ के क्रम में शंभू ने कई चौंकाने वाले तथ्य उजागर किये हैं। इसके आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है। फिलहाल पुलिस ने उसे आर्म्स ऐक्ट में न्यायिक हिरासत में भेजा है तथा मर्डर केश में उसे रिमांड पर लिया जायगा।

घटना में शामिल अन्य दो की गिरफ्तारी के लिये पुलिस ने छापेमारी की लेकिन दोनों फरार मिला। सुपारी लेकर हत्या करना शंभू की फितरतमथुरापुर गांव का रहनेवाला शंभू पिछले पंद्रह सालों से पत्नी के साथ किराये के मकान में मुंगेर के नौवागढ़ी थानान्तर्गत कुंदपुर में रहता था।

वहां वह आपराधिक गिरोह से जुड़ा तथा सुपारी लेकर हत्याकांडों को अंजाम देने लगा। पूछताछ के क्रम में एसडीपीओ को शंभू ने बताया कि कुछ साल पहले उसने पश्चिम बंगाल के चौबीस परगना में एक लाख और दो लाख की सुपारी लेकर दो लोगों की अलग अलग हत्या की थी।

वहीं युगल एवं अन्य लोगों के सहयोग से पूर्व में उसने हावड़ा दानापुर फास्ट पैसेंजर ट्रेन में मिर्जाचौकी के पास डकैती की थी। जिसमें दोनों को 1997 में सजा भी हुई थी। लेकिन शंभू ने कानून को चकमा देकर अपने बदले में भाई को कोर्ट में पेश कराकर जेल की सजा भुगतवाई।

शंभू विभिन्न राज्यों के अपराधी गिरोहों को अवैध हथियारों की बड़े पैमाने पर आपूर्ति भी करता था। पुलिस की लिस्ट में वह डोसियरिस्ट है। पार्टनर ने रची बिरजू की हत्या की साजिश शराब के धंधे में विजय उर्फ बिरजू की हत्या की साजशि पार्टनर युगल तांती ने रची थी।

इस बात का खुलासा करते हुए गिरफ्तार शंभु ने पुलिस को बताया कि घटना के कुछ दिनों पहले दोनों ने इसकी योजना भागलपुर कचहरी परिसर में रची। युगल ने उससे कहा कि बिरजू धंधे में पचड़ा बना है जिसका पत्ता साफ करना है।

इसके लिये सौदा पचास हजार में तय हुआ तथा सात हजार बतौर अग्रिम दिये गये। घटना के बाद 15 हजार रुपए का भुगतान किया गया। 28 हजार रुपया बांकी रह गया। घटना के दिन वह बरदवान ट्रेन से शविनारायणपुर उतरा तथा दुकान के निकट जाकर हालात का जायजा लिया।

उस के बाद वह द्योरी गांव चला गया। स्कूल के बगल स्थित एक आम बागान में तीनों ने रणनीति तय की। शाम सात बजे वह फिर दुकान पर पहुंचा जहां युगल ने इशारे से बिरजू को पहचनवाया। दुकान बंद होने के समय युगल और शंभू ने मोबाइल से बात की।

बोलेरो पर सवार होने के समय गोली मारने की योजना थी। लेकिन इस बीच बिरजू पेशाब करने लगा और मौका देखकर उसने गोली दाग दिया। घटना के बाद युगल बाइक से शंभू को विक्रमशिला स्टेशन पर छोड़ गया जहां वह देर रात बरौनी ट्रेन पकड़कर मुंगेर चला गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मथुरापुर का शराब विक्रेता बिरजू का हत्यारा गिरफ्तार