अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब नहीं बनेगा मैनुअल लाइसेंस

परिवहन विभाग की स्मार्ट कार्ड योजना चार साल बाद धरातल पर उतरती नजर आ रही है। इस योजना के तहत राज्य के किसी भी जिले में अब तो न तो मैनुअल लाइसेंस बनगा और न रािस्ट्रेशन होगा। विभाग ने सभी जिला परिवहन पदाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है।ड्ढr राज्य के रांची, हाारीबाग, धनबाद, जमशेदपुर, बोकारो, गिरिडीह, कोडरमा, लोहरदगा, गुमला, चाईबासा (पूर्वी सिंहभूम), दुमका, गोड्डा, साहेबगंज, देवघर और पलामू जिले में स्मार्ट कार्ड योजना लागू हो गयी है। रामगढ़, खूंटी, जामताड़ा, गढ़वा, पाकुड़, सरायकेला-खरसावां, पश्चिमी सिंहभूम, सिमडेगा एवं लातेहार में यह व्यवस्था फिलहाल लागू नहीं है। परिवहन विभाग ने एनआइसी को राज्य के अन्य जिलों में भी अविलंब स्मार्ट कार्ड योजना लागू करन का आदेश दिया है। विभागीय आदेश के आलोक में उक्त जिलों में कंप्यूटर लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। स्मार्ट कार्ड योजना जिन जिलों में लागू है, वहां नोटिस टांग दिया गया है। इसमें लिखा है : आवेदक को स्वयं कंप्यूटर के पास खड़ा होना होगा। लर्निंग के एक माह बाद एमवीआइ की जांच के बाद स्थायी लाइसेंस निर्गत करदिया जायेगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब नहीं बनेगा मैनुअल लाइसेंस