अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मलेरिया की दवा खायें मच्छरदानी इस्तेमाल करं

ांगल और दुरुह क्षेत्र में तैनात जवानों को मलेरिया की दवा खाने की सलाह दी गयी है। जवान सप्ताह में क्लोरोक्िवन की दो टैबलेट लेकर मलेरिया से बहुत हद तक बच सकते हैं। टैबलेट का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। साथ ही जवानों को मेडिकेटेड मच्छरदानी इस्तेमाल करने की भी सलाह दी गयी है। जवान मच्छरदानी को मेडिकेटेड कराने के लिए विभाग के मलेरिया नियंत्रण इकाई से संपर्क कर सकते हैं।ड्ढr रांची के सिविल सर्जन डॉ श्याम सुंदर सिंह ने बताया कि सेना में भी मलेरिया से बचाव के लिए सप्ताह में दो टैबेलट दिये जाते हैं। इसके अलावा बुखार होने पर 24 घंटे के भीतर स्लाइड की जांच आवश्यक है। जांच रिपोर्ट में पीएफ पाये जाने के बाद मरीा को तुरंत अस्पताल में भरती कराकर उसका इलाज कराना चाहिये। सिविल सर्जन ने रविवार को स्वास्थ्य सचिव डॉ प्रदीप कुमार के निर्देश पर जप अस्पताल, महिला बटालियन और जेल अस्पताल का निरीक्षण किया। जप अस्पताल में उन्होंने चादर आदि बदलने को कहा। सोमवार को दो डॉक्टरों की टीम जवानों के स्वास्थ्य की जांच करगी। महिला बटालियन, जेल अस्पताल में भी चिकित्सा व्यवस्था का जायजा लिया और आवश्यक निर्देश दिये।ड्ढr एक को नि:शुल्क कैंसर जांचड्ढr इरबा स्थित क्यूरी अब्दुर्रज्जाक अंसारी कैंसर इंस्टीट्यूट में एक जुलाई को नि:शुल्क कैंसर जांच शिविर का आयोजन किया गया है। इंस्टीट्यूट के जनसंपर्क पदाधिकारी जावेद अख्तर ने यह जानकारी दी। इंस्टीट्यूट के चिकित्सा अधीक्षक डॉ मृत्युंजय कुमार के अनुसार शिविर में कैंसर रोग से पीड़ितों की जांच के साथ ही उन्हें उचित परामर्श भी दिया जायेगा। कैंसर मरीाों से फोन नंबर 0651-2275300, 22756300, 227518और मोबाइल नंबर : पर संपर्क करने का आग्रह किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मलेरिया की दवा खायें मच्छरदानी इस्तेमाल करं