अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपोर्ट के लिए प्लानिंग प्रोजेक्ट यूनिट बनायें

ेंद्र ने झारखंड सहित उत्तर-पूर्व के राज्यों से कहा है कि विश्व की प्रमुख फंडिंग एजेंसियों से बड़े प्रोजेक्ट में सहयोग लेने के लिए अपने यहां प्लानिंग प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट बनायें। केंद्र ने कहा कि यह यूनिट वर्ल्ड की प्रमुख फंडिंग एजेंसियों की शर्तो के अनुरूप अपना प्रोजेक्ट बनाये। उसके बाद सहायता हासिल कर। उक्त बातें केंद्र सरकार के आर्थिक कार्य विभाग के एडिशनल सेक्रेटरी सिंधु श्री कुल्लर ने कही। वह केंद्र के प्रयास से यहां दो दिवसीय रिानल एक्सटर्नल असिस्टेंस वर्कशॉप के बाद प्रेस से बातचीत कर रहे थे।ड्ढr सिंधु ने कहा कि झारखंड अब तक सपोर्ट लेने के लिए ब्लू प्रिंट तैयार नहीं कर सका था। परंतु अब प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को समझ कर उसकी पहचान की गयी है। कार्मिक सचिव आरएस शर्मा ने बताया कि 11 वीं पंचवर्षीय योजना में झारखंड इन एजेंसियों से पांच हाार करोड़ रुपये तक सहायता प्राप्त कर सकता है। झारखंड ने ऊरा, स्वास्थ्य, गरीबी उन्मूलन, इंफ्रास्ट्रक्चर, टेक्िनकल एजुकेशन और कृषि के क्षेत्र में बाहरी मदद की मांग की है। इस वर्कशॉप में झारखंड के अलावा उड़ीसा, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और बिहार के सरकारी प्रतिनिधि शामिल हुए। अंतिम दिन राज्य के वित्त मंत्री स्टीफन मरांडी ने भी राज्य की जरूरतों को बताया।ड्ढr सिंधु ने कहा कि झारखंड के प्रोजेक्ट को विश्व की प्रसिद्ध फंडिंग एजेंसियों से अपेक्षित सहयोग नहीं मिला है। लेकिन इसके लिए झारखंड को खुद आगे आना होगा। 11वीं पंचवर्षीय योजना में झारखंड ने इस दिशा में काफी प्रयास किया है। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सपोर्ट के लिए प्लानिंग प्रोजेक्ट यूनिट बनायें