अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति ने ई-पासपोर्ट योजना शुरु की

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने देश के पासपोर्ट प्रशासन में क्रान्तिकारी बदलाव लाने वाली ई-पासपोर्ट योजना का आज शुभारंभ किया। ई-पासपोर्ट को बायोमेट्रिक पासपोर्ट भी कहा जाता है। इसमें पासपोर्टधारी के उंगलियों के निशान समेत सभी व्यक्ितगत जानकारी कंप्यूटर चिप में एकत्र कर ली जाती है। इससे पासपोर्ट में धोखाधड़ी या गड़बड़ की कोई आशंका नहीं रहती। इसकी राष्ट्रव्यापी शुरुआत के साथ भारत ई-पासपोर्ट जारी करने वाला पहला प्रमुख विकासशील देश हो गया है। इस समय 41 देशों में ऐसे पासपोर्ट जारी होते हैं जिनमें अधिकतर ने पिछले दो वर्ष में यह काम शुरु किया है। ड्ढr राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में इस योजना की शुरुआतड्ढr के बाद विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने पाटिल और उनके पति डॉ.देवीसिंह शेखावत को ई-राजनयिक पासपोर्ट सौंपे। ड्ढr मुखर्जी ने बाद में उप राष्ट्रपति निवास पर आयोजित कार्यक्रम में उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी और उनकी पत्नी सलमा अंसारी तथा प्रधान मंत्री कार्यालय में प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह को ई- राजनयिक पासपोर्ट सौंपे। विदेश मंत्रालय आज से राजनयिकों को ई-पासपोर्ट जारी करना शुरु कर रहा है। सरकारी अधिकारियों को अगले महीने से ई-पासपोर्ट जारी किए जाएंगे। बाद में सभी नए आवेदकों और नवीकरण कराने वालों को ई-पासपोर्ट मिलने लगेंगे। ड्ढr विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि देश भर में सामान्य श्रेणी में ई-पासपोर्ट अगले साल सितम्बर तक जारी होने लगेंगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राष्ट्रपति ने ई-पासपोर्ट योजना शुरु की