अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साफीन ने जोकोविच को हराया

स के मरात साफीन ने बुधवार को सर्बिया के तीसरी वरीयता प्राप्त नोवाक जोकोविच को विंबलडन के दूसर दौर में बाहर का रास्ता दिखा दिया। विश्व के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साफीन ने जोकोविच को सीधे सेटों में 6-4, 7-6 (7-3), 6-2 से हराया। साफीन ने पिछला खिताब 2005 में ऑस्ट्रेलियन ओपन का जीता था और तब से उनकी रैंकिंग 75 स्थान नीचे गिर चुकी है। महिलाओं में टॉप सीड एना इवानोविच दो मैच पॉइंट के बाद बचते हुए तीसर दौर में पहुंचने में सफल हो गई। उन्होंने संघर्ष के बाद गैरवरीय फ्रांस की नथाली डेश्ी को साढ़े तीन घंटे तक चले संघर्ष में 6-7 (2-7), 7-6 (7-3), 10-8 से हराया। इवानोविच ने कोर्ट वन पर बहुत गलतियां की जिससे विपक्षी को मौके मिलते रहे। भारत के लिएंडर पेस और चेकगणराज्य के उनके जोड़ीदार लुकास डलोही डबल्स मुकाबलों में पहले ही दौर में कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा। उन्होंने मंगलवार की रात हुए मैच में स्थानीय दावेदार जेम्स ऑकलैंड और जेमी डेलगाडो को 4-6, 6-0, 6-3, 4-6, 6-3 से मात दी। यह मुकाबला तीन घंटे तक चला। दूसर दौर में पेस- डलोही की भिड़ंत अमेरिका एरिक बुटोरक और ऑस्ट्रेलिया के एश्ले फिशर की जोड़ी से होगी। दूसर दौर के सिंगल्स मैच में ऑस्ट्रेलिया के लेटन ह्यूइट ने एल्बर्ट मोनतानेस को 7-6 (7-4), 6-0, 6-2 से हराकर तीसर दौर में स्थान बनाया।ड्ढr दूसरी तरफ भारत के रोहन बोपन्ना अपने पाकिस्तानी जोड़ीदार एहशाम उल हक कुरैश्ी के साथ मिलकर दसवी वरीय पोलैंड के मारिा फ्रिस्टेनबर्ग और मारसिन मत्कोवस्की को सीधे सेटों में 6-3, 7-5, 6-4 से हराकर दूसर दौर में प्रवेश करने में सफल रहे। ऑस्ट्रेलियन ओपन चैंपियन 21 वर्षीय जोकोविच को इस बार रोर फेडरर और राफेल नदाल के साथ खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। साफीन ने जीत के बाद कहा - यह जीत ऐसे समय में आई है जब मेरा आत्मविश्वास कमजोर पड़ रहा था। लेकिन जोकोविच को सेंटर कोर्ट पर हराना एक महान जीत है। ऐसी जीत मुझे लंबे समय से नहीं मिली थी। जोकोविच दबाव में थे, वह इस साल के अंत तक नंबर एक खिलाड़ी बनने के संघर्ष में हैं, जबकि मुझसे किसी को कोई उम्मीद नहीं थी। -ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: साफीन ने जोकोविच को हराया