DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में रल सुविधाओं के विस्तार के मुद्दे छाये रहे

रांची में बुधवार को आयोजित दपू रलवे क्षेत्रीय उपभोक्ता सलाहकार समिति की वीं बैठक में झारखंड में रल सेवाओं और यात्री सुविधाओं के विस्तार के मुद्दे जोर-शोर से उठे। सांसद रामेश्वर उरांव, सुशीला केरकेट्टा, अनंत नायक, सुशीला तिरिया, रूपचंद मुमरू सहित अन्य सदस्यों ने संपर्क क्रांति और राजधानी एक्सप्रेस को हटिया से खोलने, हटिया और रांची रलवे स्टेशन का विकास तथा धनबाद लुधियाना एक्सप्रेस को रांची से शुरू करने की मांग की।ड्ढr बैठक में ट्रेन परिचालन, यात्री सुविधा, सुरक्षा तथा दक्षिण पूर्व रलवे के अंतर्गत चलने वाली परियोजनाओं के विभिन्न पहलुओं पर भी विचार-विमर्श किया गया। सदस्यों ने रलवे के कामकाज को बेहतर बनाने के लिए सुझाव भी दिये।ड्ढr दपू रलवे के महाप्रबंधक एके जन ने कहा कि बैठक में प्राप्त सुझावों को रल मंत्रालय के पास भेजा जायेगा। बैठक में विभिन्न परियोजनाओं, रोड ओवर ब्रिज, डबलिंग, नयी ट्रेन, यात्री सुविधा और सुरक्षा तथा ट्रेनों की गति सीमा में वृद्धि की भी जानकारी दी गयी।ड्ढr बैठक में विधानसभा और विधान परिषद के सदस्य, चैंबर ऑफ कॉमर्स और विभिन्न यात्री संगठनों के 3सदस्य उपस्थित थे।ड्ढr दपू रलवे राजस्व प्राप्त करने में अग्रणी : जीएमड्ढr दक्षिण पूर्व रलवे के महाप्रबंधक एके जन ने कहा है कि दक्षिण पूर्वी रलवे माल ढुलाई के साथ-साथ यात्री किराये से भी राजस्व प्राप्त करने में अग्रणी रहा है। वित्तीय वर्ष 2007-08 में 186 मिलियन यात्रियों ने यात्रा की। इससे 721 करोड़ रुपये की आमदनी हुई, जो पिछले साल की तुलना में 12 फीसदी अधिक है। वित्तीय वर्ष 2007-08 में 11 मिलियन टन माल की ढुलाई हुई, जिससे 5445 करोड़ रुपये की आय हुई। यह भी पिछले वर्ष की तुलना में 12 फीसदी अधिक है। वे बुधवार को दक्षिण पूर्व रलवे क्षेत्रीय उपभोक्ता सलाहकार समिति की वीं बैठक बोल रहे थे।ड्ढr चैंबर ने रखीं कई मांगेंड्ढr इधर जोनल रलवे यूजर्स कंसल्टेंट कमेटी (ोडयूआरसीसी) की बैठक बुधवार को चैंबर पदाधिकारियों के साथ हुई। इसमें रांची से कुछ नयी ट्रेनें देने और कुछ ट्रनों के फेर बढ़ाने पर चर्चा की गयी। बैठक में सदस्यों ने मांग की कि रांची से कोलकाता के लिए सुपरफास्ट, रांची से गुवाहाटी भाया सिल्लीगुड़ी, रांची से अहमदाबाद भाया सूरत, रांची से हैदराबाद भाया विशाखापत्तनम, रांची से पूणे भाया नागपुर, रांची से पटना शताब्दी एक्सप्रेस और रांची से इंदौर भाया भोपाल ट्रेनें चलायी जाये। इसके अलावा कई ट्रनों को सप्ताह में अधिक से अधिक दिन चलाने और कुछ ट्रेनों के विस्तार की मांग की गयी। बैठक में रलवे अधिकारियों के अलावा चैंबर अध्यक्ष मनोज नरडी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड में रल सुविधाओं के विस्तार के मुद्दे छाये रहे