अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्वविद्यालय कर्मियों की हड़ताल से कामकाज ठप

विश्वविद्यालय कर्मियों की हड़ताल का व्यापक असर देखा गया। सरकार की वादाखिलाफी व मांगों को नहीं माने जाने को लेकर सूबे के सभी विश्वविद्यालयों के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। हड़ताल के कारण विश्वविद्यालयों में कामकाज बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।ड्ढr ड्ढr हड़ताल के कारण पटना विवि, मगध विवि, वीर कुंवर सिंह विवि आरा, ललित नारायण मिथिला विवि दरभंगा, बीआरए बिहार विवि मुजफ्फरपुर, जय प्रकाश विवि छपरा, तिलका मांझी भागलपुर विवि, बीएन मंडल विवि मधेपुरा में कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। बिहार राज्य विवि कर्मचारी संघ ने हड़ताल के पूर्ण सफल होने का दावा किया है। हड़ताल के कारण सूबे की उच्च शिक्षण व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई। हड़ताल का असर पटना विवि में व्यापक पैमाने पर दिखा। हड़ताल के कारण कॉलेजों में चल रही नामांकन प्रक्रिया भी बाधित हुई। साथ ही महासंघ की हड़ताल शुरू होते ही छह जून से शुरू हुई पटना विवि कर्मचारी संघ की धीमी पड़ती लौ में जान आ गयी। बुधवार को विवि कर्मचारियों ने सुबह को जुलूस निकालकर कुलपति आवास, पटना कॉलेज व वाणिज्य महाविद्यालय में घूमकर नारबाजी की। सुबह सात बजे से ही कर्मचारियों ने पटना विवि मुख्यालय समेत सभी विभागों, वाणिज्य महाविद्यालय, पटना कॉलेज, बीएन कॉलेज, साइंस कॉलेज, मगध महिला कॉलेज में तालाबंदी करायी। कुलपति आवास पर प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों ने जमकर कुलपति विरोधी नार लगाए। साथ ही कुलपति गो बैक व कुलपति अविलंब इस्तीफा दो के नार भी लगाए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विश्वविद्यालय कर्मियों की हड़ताल से कामकाज ठप