अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रखंड कार्यालयों में माले नेकी तोड़फोड़

बीपीएल व नरगा में धांधली को लेकर संदेश, चरपोखरी व बड़हरा प्रखंड मुख्यालय परिसर पर माले के घेराव के दौरान कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ व उग्र प्रदर्शन किया गया। जहां संदेश प्रखंड कार्यालय में सैकड़ों माले कार्यकर्ताओं ने लाठी-डंडे के साथ बीडीओ समेत सभी कर्मचारियों को चार घंटे तक बंधक बनाया वहीं गड़हनी में तोड॥फोड़ कर नाइट गार्ड को पीट-पीट कर जख्मी कर दिया गया। इस मामले में प्रधानसहायक के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है जबकि बड़हरा प्रखंड में महिलाओं ने बीडीओ कक्ष का ताला तोड़कर अंदर रखे सभी समानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। उग्र प्रदर्शन का आलम यह रहा कि कार्यालय में तैनात सशस्त्र अंचल गार्ड के जवान हथियार समेत भाग गए।ड्ढr ड्ढr गौरतलब हो कि बीपीएल में गरीब मजदूर वर्ग के लोगों का नाम नहीं होने तथा नरगा में धांधली व अनियमितता को लेकर माले द्वारा प्रखंड कार्यालय का घेराव व उग्र प्रदर्शन का आयोजन किया गया था। बड़हरा प्रखंड मुख्यालय पर माले कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदर्शन कार्यक्रम खत्म होने के बाद मांगों का ज्ञापन लेने के लिए कोई भी अधिकारी मुख्यालय में उपस्थित नहीं थे, जिसके कारण माले नेताओं का आक्रोश भड़क उठा। देखते-देखते सभा तोड़फोड़ एवं उग्र प्रदर्शन में तब्दील हो गई। महिला सदस्यों ने प्रखंड एवं अंचल कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ मचाई, वहीं सदेश प्रखंड में आक्रोशित माले कार्यकर्ताओं ने बीडीओ कार्यालय के दरवाजे व खिड़कियों को लाठी डंडे से मारकर पूरी तरह छतिग्रस्त कर दिया। माले के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए प्रखंड एवं अंचल कार्यालय में अफरातफरी मच गई। सभी अधिकारी व कर्मचारी भागकर किसी स्थान पर छिप गये। चार घंटे तक प्रखंड मुख्यालय में उग्र प्रदर्शन एवं नारबाजी होती रही। बाद में पुलिस प्रशासन के हस्तक्षेप पर प्रखंड विकास पदाधिकारी खुर्शीद अकरम एवं माले नेताओं के साथ मांगों को पूरा करने के आश्वासन पर मामला शांत हुआ। घेराव का नेतृत्व परशुराम चौधरी ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रखंड कार्यालयों में माले नेकी तोड़फोड