अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव की उलटी गिनती शुरू

परमाणु करार और केन्द्र सरकार के भविष्य का फैसला अब जुलाई के दूसर सप्ताह में ही होगा। करार के मसले पर यूपीए और वाम दलों की नौवीं बैठक बुधवार को बेनतीजा रही। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जापान से लौटने के बाद होने वाली दसवीं बैठक संभवत: अंतिम होगी। राष्ट्रहित में करार के लिए कटिबद्ध सरकार और इसके विरुद्ध वाम दलों के अड़ियल रुख से यह माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई है।ड्ढr ड्ढr बुधवार को यूपीए और वाम दलों के नेताओं की बैठकों के दौर के बीच सोनिया गांधी की योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया के साथ लंबी मंत्रणा हुई। समझा जाता है कि श्रीमती गांधी ने मोंटेक से जानना चाहा कि महंगाई का ग्राफ नीचे कब उतरना शुरू होगा। कांग्रेस में दबाव बन रहा है कि अगर सितंबर-अक्टूबर तक महंगाई के आंकड़ों पर काबू पाया जा सकता है, तो सरकार करार पर आगे बढ़े और नवंबर-दिसंबर महीने में पांच-छह राज्य विधानसभा चुनावों के साथ अथवा अगले साल फरवरी-मार्च में लोकसभा चुनाव कराए। इस रोडमैप के हिसाब से वाम दलों के साथ अगली बैठक में संप्रग सरकार आई ए ई ए के साथ सेफगार्ड ऐग्रीमेंट करने की मजबूरी जता कर सरकार के फैसले का साथ देने अथवा समर्थन वापस लेने का विकल्प पेश कर सकती है। ड्ढr क्या आडवाणी को पीएम बनाएंगे?ड्ढr नई दिल्ली (वि.सं.)। रल मंत्री और राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने वाम दलों से सांप्रदायिक ताकतों को सत्ता में आने का मार्ग प्रशस्त नहीं करने का अनुरोध किया है। यूपीए सूत्रों के अनुसार परमाणु करार पर यूपीए और वाम दलों की समिति की बेनतीजा रही बैठक में वाम दलों के अड़ियल रुख पर श्री यादव ने वाम दलों से पूछा कि क्या आप लोग आडवाणी को प्रधानमंत्री बनवाना चाहते हैं। इस बीच इस बैठक में वाम दलों के ताजा रुख के मद्देनजर कांग्रेस एवं यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देर शाम को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, प्रणव मुखजी एवं ए के एंटनी तथा अपने राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के साथ गूढ़ मंत्रणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चुनाव की उलटी गिनती शुरू