DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीडीओ हत्याकांड में तीन दबोचे गए

घटना के 50 घंटे के भीतर अरियरि के बीडीओ अरविन्द कुमार मिश्र के हत्याकांड से जुड़े तीन अपराधियों को पुलिस ने दबोचा लिया। लापरवाही के आरोप में बीडीओ के अंगरक्षक शंकर मंडल को निलंबित कर दिया गया है। भागलपुर प्रक्षेत्र के जोनल आईजी राधाकृष्ण किन्नी ने बताया कि ऐफनी पंचायत में पिछले दिनों शिक्षक नियोजन में गड़बड़ी के खुलासे के कारण बीडीओ अरविंद कुमार मिश्र की हत्या की गयी। पंचायत के पूर्व मुखिया गुरुजी उर्फ राजीव रंजन द्वारा अवैध तरीके से शिक्षकों की बहाली की गयी थी।ड्ढr ड्ढr वर्तमान में गुरुजी की भाभी वहां की मुखिया हैं। हत्या में पेशेवर अपराधकर्मियों की भी मदद ली गयी। बीडीओ की हत्या राजोपुरम आवास पर करने के बाद तीन अपराधी मोटरसाइकिल द्वारा भाग निकले थे। उन्होंने बताया कि ऐफनी के रंजीत सिंह एवं मुकेश कुमार तथा कंबलबिगहा के नवीन चौरसिया को गिरफ्तार किया गया है। हत्याकांड में अपराधियों द्वारा जिस मोटरसाइकिल का प्रयोग किया गया था, उसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। इस हत्याकांड में दो और मास्टरमाइंड की खोज की जा रही है।ड्ढr ड्ढr गिरफ्तार नवीन चौरसिया एवं रंजीत सिंह पहले भी जेल जा चुके हैं। वे पूर्व से हत्या के अभियुक्त भी हैं। बीडीओ की हत्या में प्रयुक्त मोबाइल सेट भी बरामद कर लिया गया है। गिरफ्तार अपराधियों ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। राजेश रंजन प्रसाद उर्फ गुरुजी हत्या के कारणों का खुलासा होने के बाद से फरार है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। हत्याकांड की जांच करने आये अधिकारियों में सीआईडी विभाग के आईजी राजेश रंजन, सीआईडी (क्राईम)के एसपी बलदेव प्रसाद एवं मुंगेर डीआईजी मनोहर प्रसाद शामिल हैं। संवाददाता सम्मेलन में एसपी इन्द्रानंद मिश्र, डीएसपी राजेश कुमार समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बीडीओ हत्याकांड में तीन दबोचे गए