DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांसद मेहता के बयान पर बिफरी आजसू

सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता और मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। सांसद द्वारा चंद्रप्रकाश पर सोमवार को अवैध कमाई का आरोप लगाने के बाद आजसू कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा। मंगलवार को भी दोनों नेताओं ने एक-दूसर पर निशाना साधा। मुरूबंदा स्थित जिस इांीनियरिंग कॉलेज का निर्माण कार्य न्यूनतम मजदूरी की मांग को लेकर सांसद ने 13 जून से बंद करा दिया था, वहां आजसू कार्यकर्ताओं ने झंडा-बैनर लेकर मंगलवार 24 जून को फिर से काम शुरू करा दिया। काम शुरू कराने पर आसपास की सैकड़ों महिला मजदूर वहां जमा होकर ठेकेदार के खिलाफ नारबाजी करने लगीं। इससे स्थिति काफी तनावपूर्ण हो गयी। सूचना मिलने पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर दोनों पक्षों से बातचीत की। आजसू नेता चंद्रशेखर पटवा ने प्रशासन को बताया कि ठेका कंपनी मजदूरों के साथ है, लेकिन भाकपा के कुछ नेताओं ने राजनीति के तहत काम बंद करा दिया है। मजदूरों के खून पर नहीं बनने देंगे कालेजहाारीबाग। मंत्री की संपत्ति की जांच सीबीआइ से करायी जाये। मैं अपनी संपत्ति की जांच कराने को तैयार हूं। मंत्री को अराजकता फैलाने की छूट नहीं दी जायेगी। जिले के अफसर आजसू की दादागिरी रोकें, अन्यथा भाकपा सड़क पर उतर कर इसकाा विरोध करगी। यह बातें भाकपा सांसद भुवनेश्वर मेहता ने कहीं है। उन्होंने कहा कि इांीनियरिंग कॉलेज के निर्माण में मंत्री के लोगों द्वारा मजदूरों का शोषण किया जा रहा था। मजदूरों ने खुद वहां काम बंद करा दिया। मजदूरों के खून पर मुरुबंदा में इांीनियरिंग कॉलेज का निर्माण नहीं होने देंगे। अगर जबरन काम कराया जायेगा, तो आंदोलन तेज करंगे। सांसद ने कहा कि वे चंद्रप्रकाश का विरोध नहीं कर रहे हैं और न ही रामगढ़ के विकास में हस्तक्षेप। अगर ऐसा होता, तो वे उसी कॉलेज के शिलान्यास कार्यक्रम में नहीं जाते और न ही उस कॉलेज को लाने का श्रेय मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी को देते। उनका विरोध मजदूरों के शोषण के सवाल पर है। यदि मंत्री उनके आंदोलन का विरोध करते हैं, तो यह उनकी मजदूर विरोधी मानसिकता को दर्शाता है। जरूरत पड़ी, तो बेलचा लेकर उतरूंगारारप्पा। मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा है कि सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता विवाद खड़ा कर रामगढ़ का विकास अवरुद्ध करना चाह रहे हैं, लेकिन आजसू विकास की धारा रुकने नहीं देगी। मंत्री ने कहा इांीनियरिंग कॉलेज ही क्यों, बल्कि कहीं भी विकास कार्य में बाधा डालने की कोशिश की गयी, तो आजसू उसका मुंहतोड़ जवाब देगी। उन्होंने आगे कहा कि जरूरत पड़ी, तो वे खुद कुदाल और बेलचा लेकर उतरंगे, लेकिन रामगढ़ में विकास कार्य खआए इखशई भी कीमत पर रुकने नहीं देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सांसद मेहता के बयान पर बिफरी आजसू