अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चारा घोटाले में पूर्व आईएएस अधिकारी को सजा

रोड़ों रुपये के बहुचर्चित चारा घोटाले में गुरुवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के एक पूर्व अधिकारी श्रीपति नारायण दुबे को घोटाले में संलिप्त रहने के आरोप में चार वर्ष की कैद की सजा सुनाई। इसी मामले के मुख्य आरोपियों में रेल मंत्री लालू प्रसाद भी हैं। सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश संजय प्रसाद ने दुबे पर ढाई लाख रुपए जुर्माना भी लगाया। चारा घोटाले के समय दुबे दुमका जिले के आयुक्त थे। दुमका के सरकारी खजाने से 1.47 करोड़ रुपये अवैध रूप से निकाले जाने के मामले में 12 जून को अदालत ने दुबे सहित 34 लोगों को आरोपी करार दिया था। इस मामले में 33 लोगों को सजा सुनाई जा चुकी है। अवैध धन निकालने के मामले में कुल 46 लोगों पर आरोप लगे थे, जिसमें तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि तीन सीबीआई के गवाह बन गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चारा घोटाला: पूर्व आईएएस अधिकारी को सजा