अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि में निवेश की जरूरत

राज्यपाल सह कुलाधिपति सैयद सिब्ते राी ने कहा कि पिछले एक दशक से कृषि में सार्वजनिक निवेश कम हुआ है। इससे कृषि जनित अर्थव्यवस्था धीमी पड़ गयी है। नौंवी से दसवीं के बीच विकास दर में मात्र 0.1 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी इसका प्रमाण है। सेवा और उद्योग क्षेत्र में विकास होता रहा है। कृषि विकास के लिए इस क्षेत्र में भी निवेश जरूरी है। राी 26 जून को बिरसा कृषि विवि के स्थापना दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने पुस्तकों का लोकार्पण भी किया।ड्ढr राी ने कहा कि देश की बढ़ती जनसंख्या का पेट भरने के लिए कृषि का विकास करना होगा। इसमें विवि की अहम भूमिका होगी। कृषि विकास के लिए ग्रामीण क्षेत्र में आधारभूत ढांचे में सुधार लाने की जरूरत है। स्थापना दिवस आत्म आलोचन और आत्म निरीक्षण का बेहतर मौका है। छोटे-छोटे किसानों को लाभ पहुंचा कर ही भगवान बिरसा के सपनों को पूरा किया जा सकता है।ड्ढr वीसी डॉ एनएन सिंह ने गत वर्ष की विवि की उपलब्धियों की जानकारी दी। इसमें शिक्षण, शोध, प्रसार, छात्र कल्याण, बीज उत्पादन, आधाभूत संरचना के विकास आदि की जानकारी दी गयी। संचालन डॉ निभा बाड़ा और धन्यवाद ज्ञापन डॉ आरपी सिंह रतन ने किया।ड्ढr किसान, छात्र, कर्मी पुरस्कृतड्ढr स्थापना दिवस पर राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने निबंध प्रतियोगिता के विजेता छात्र लव कुमार, पारिाात कुमार, शशि प्रकाश एवं शिक्षकेतर कर्मचारी अमित कुमार झा, महावीर सिंह को पुरस्कृत किया। सब्जी उत्पादन के लिए किसान दिगंबर प्रसाद सिंह, दलहन-तेलहन खेती के लिए नूर मोहम्मद, समेकित कृषि प्रणाली के लिए जे सिंकू, कुटीर उद्योग के लिए निवेदिता देवी एवं सूकर पालन के लिए विश्वासी पूर्ति को सम्मानित किया।ड्ढr शिलान्यास किया, आज छुट्टीड्ढr बिरसा कृषि विवि परिसर में राज्यपाल ने जीन बैंक एवं सब्जियों और फूलों की कटनी के बाद की प्रौद्योगिकी पर प्रशिक्षण केंद्र के भवन का शिलान्यास किया। उन्होंने किसानों को फसलों के बीज और पक्षी के चूजे भी बांटे। विवि में 27 जून को अवकाश की घोषणा की गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कृषि में निवेश की जरूरत