DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरेगा के लाभ से अब भी लाखों वंचित

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (नरगा) का लाभ अब भी लाखों बिहारी नहीं उठा पा रहे हैं। इसकी वजह जॉब कार्डधारियों को काम नहीं दिया जाना या फिर उनका काम नहीं मांगा जाना भी हो सकती है। बहरहाल जॉब कार्डधारियों में से 40 फीसदी का इस योजना से अब भी नहीं जुड़ पाना राज्य सरकार के लिए चिंता का कारण है। सरकार के आंकड़े बताते हैं कि अभी तक राज्य में लाख 84 हजार 800 जॉब कार्ड बांटे गए हैं। पर, उनमें से काम सिर्फ 60 फीसदी को ही मिल पाया है।ड्ढr ड्ढr सीधे तौर पर कहें तो करीब 38 लाख जॉब कार्डधारी अब भी इसका लाभ नहीं ले पाए हैं। कार्ड बांटने की रफ्तार और लाभार्थियों के नाम से डाकघर और बैंकों में खाता खोलवाने की गति में भी भारी अंतर है। सरकार इसकी वजह अधिकारयों की सुस्ती भी मान रही है। राज्य के 14 ऐसे जिले भी हैं जहां अभी तक कार्डधारियों के नाम से खाता खोलने की शुरूआत भी नहीं हो पायी है। बाढ़ प्रभावित जिलों मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, समस्तीपुर, सुपौल, खगड़िया, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी और पूर्वी तथा पश्चिमी चंपारण जैसे जिले भी इसमें शामिल हैं। सरकार को ऐसी रिपोर्ट भी मिल रही है कि राज्य से मजदूरों का पलायन की गति धीमी हुई है। पर, जिलों में कार्डधारियों को काम नहीं मिलने की सूचना ने बेचैनी बढ़ा रखी है। ग्रामीण विकास मंत्री श्रीभगवान सिंह कुशवाहा ने सभी उप विकास आयुक्तों को स्पष्ट तौर पर कहा है कि काम में रूचि लेकर खाता खुलवाने की गति तेज करंे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नरेगा के लाभ से अब भी लाखों वंचित