DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आम आदमी पार्टी की राह पर चले मुख्यमंत्री शिवराज

आम आदमी पार्टी की राह पर चले मुख्यमंत्री शिवराज

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार की राह पर अब मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार ने भी समय सीमा में काम नहीं होने और रिश्वत की मांग करने पर शिकायत के लिए एक टेलीफोन नंबर जारी कर दिया है।

आधिकारिक तौर पर शनिवार को यहां बताया गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर सरकार ने एक टेलीफोन नंबर 9009133322 जारी किया है। बताया गया है कि समय सीमा में काम  नहीं होने तथा भ्रष्टाचार अथवा रिश्वत मांगने की शिकायत लोग इस नंबर पर कर सकते हैं।

वहीं, शिवराज सिंह राजधानी भोपाल की सड़कों पर भी नजर आए। मुख्यमंत्री ने न केवल सड़क खोदकर उसकी गुणवत्ता जांची, बल्कि वह विभिन्न सरकारी दफ्तरों में पहुंचे एवं वहां सरकारी फाइलों की परख की।

देश भर में सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पर रोक है। सरकारी दफ्तरों में भी यह प्रतिबंध अधिक कड़ाई से लागू है। चौहान कल जब टाउन एंड कंट्री प्लानिंग (टीएंडसीपी) के संयुक्त संचालक वीपी कुलश्रेष्ठ के कमरे में अचानक पहुंचे, तो उन्हें कुलश्रेष्ठ धूम्रपान करते नजर आए।

चौहान के निर्देश पर कलेक्टर बरवड़े ने कुलश्रेष्ठ पर धूम्रपान प्रतिबंध कानून के तहत 200 रुपए का जुर्माना लगा दिया। इसके बाद मुख्यमंत्री भोपाल शहर के विकास के औचक निरीक्षण पर निकल पड़े। सबसे पहले उनका काफिला कोलार नगर पालिका पहुंचा और पहली बार मुख्यमंत्री के काफिले के लिए यातायात रोका नहीं गया। उनके काफिले का अंदाज दूसरे दिनों से जुदा था। काफिले के साथ आम लोगों की गाड़ियां भी चल रही थीं।

कोलार नगर पालिका कार्यालय में मुख्यमंत्री ने भवन की अनुमति संबंधी भवन अनुज्ञा की फाइलें तलब कीं। उन्हें प्रेम नारायण सिंह लोधी नामक नागरिक की शिकायत मिली थी कि उनकी भवन अनुज्ञा फाइल अफसरों ने दो माह से रोक रखी है और उनसे रिश्वत की मांग की जा रही है।

फाइल देखकर उन्होंने अफसरों पर नाराजगी जाहिर करते हुए पूछा कि लोधी को अब तक भवन अनुज्ञा क्यों नहीं दी गई, जबकि फाइल पूरी है। उन्हें तत्काल फोन कर इसकी सूचना दी जाए। मुख्यमंत्री के अचानक हुए इस दौरे से नगर पालिका के अफसर घबरा गए। इस पर चौहान ने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, बेवजह किसी पर कार्रवाई नहीं होगी। यहां उन्होंने लोक सेवा केन्द्र का निरीक्षण भी किया।

चौहान ने इस अवसर पर एक आवेदक गोपाल राव की फाइल देखकर उन्हें फोन लगाकर पूछा, आपको भवन अनुज्ञा कितने दिनों में मिली है, कोई स्टॉफ पैसे तो नहीं मांगता। शाहपुरा से मंत्रालय जाने के दौरान मुख्यमंत्री पत्रकार कॉलोनी में नई बनी सड़क को देखकर एक गए। यहां एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री अधोसंरचना योजना के तहत डामरीकरण हुआ था। उनके निर्देश पर तुरंत सड़क के मटेरियल की जांच कराई गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आम आदमी पार्टी की राह पर चले मुख्यमंत्री शिवराज