DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत की निराशाजनक शुरुआत, इंग्लैंड से 0-2 से हारा

भारत की निराशाजनक शुरुआत, इंग्लैंड से 0-2 से हारा

भारत को कमजोर खेल और अपने खिलाड़ियों के बीच तालमेल की कमी के कारण पुरुष हॉकी विश्व लीग फाइनल के पूल-ए के अपने पहले मैच में शुक्रवार को यहां इंग्लैंड के हाथों 0-2 की शिकस्त का सामना करना पड़ा। दुनिया की चौथे नंबर की टीम इंग्लैंड की ओर से एडम डिक्सन ने दोनों हाफ में एक-एक गोल किया।
   
मैन ऑफ द मैच डिक्सन ने 28वें और 45वें मिनट में अपने दोनों गोल पेनल्टी कॉर्नर पर दागे। दूसरी तरफ दुनिया की 10वें नंबर की टीम भारत एक भी गोल नहीं कर पायी। मेजबान टीम के खिलाड़ियों के बीच तालमेल की कमी नजर आई जबकि पेनल्टी कॉर्नर पर उसकी कमजोरी एक बार फिर उजागर हुई। भारत को चार पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन टीम इनमें से एक पर भी गोल नहीं कर पाई। इंग्लैंड ने दूसरी तरफ पांच पेनल्टी कॉर्नर में से दो पर गोल दागे।
   
भारत ने मैच की तेज शुरुआत की और शुरू से ही हावी होने की कोशिश की। टीम ने कुछ मूव भी बनाए लेकिन अग्रिम पंक्ति के खिलाड़ी मिडफील्ड के बनाए मूव का फायदा उठाने में नाकाम रहे। भारतीय खिलाड़ी इंग्लैंड के सर्कल में कई मौकों पर उस समय गेंद को अपने कब्जे में करने में नाकाम रहे जब गोल करने का अच्छा मौका बन सकता था।
   
मैच में गोल करने का पहला बड़ा मौका इंग्लैंड को आठवें मिनट में मिला लेकिन एलेस्टेयर ब्रोग्डन के पास को डेविड कोंडन अपने कब्जे में करने में नाकाम रहे जबकि अगर वह ऐसा कर लेते को उन्हें गोल करने के लिए सिर्फ भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश को छकाना होता।

भारत को इसके बाद लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन पहले वीआर रघुनाथ जबकि दूसरे मौके पर रूपिंदर सिंह गोल करने में नाकाम रहे।
   
भारत के हमलों के बीच इंग्लैंड की टीम धीरे-धीरे लय में आ रही थी। इंग्लैंड को 17वें मिनट में गोल करने का बेहतरीन मौका मिला। साइमन मेंटल ने भारतीय गोलकीपर श्रीजेश को छका भी दिया था लेकिन उनका शॉट गोल पोस्ट पर टकराकर बाहर आ गया।
   
इंग्लैंड की टीम ने अपने लगातार हमलों से भारतीय डिफेंस को दबाव में डाल दिया। भारतीय डिफेंडर लगातार गलतियां करने लगे। इंग्लैंड को इस बीच 22वें और 24वें मिनट में दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन उसके खिलाड़ी इन्हें गोल में तब्दील करने में नाकाम रहे। दूसरे पेनल्टी कॉर्नर पर श्रीजेश ने मार्क ग्लेगोर्न के शॉट पर शानदार बचाव किया।
   
भारतीय डिफेंस ने इसके बाद एक और गलती की जब कोथाजीत सिंह ने इंग्लैंड के फॉरवर्ड को गिरा दिया जिससे विरोधी टीम को तीसरा पेनल्टी कॉर्नर मिला। इंग्लैंड ने इस बार वैरिएशन आजमाने का फैसला किया और उसका यह निर्णय बिलकुल सही साबित हुआ। डिक्सन ने वैरिएशन पर अपने दनदनाते हुए शॉट को श्रीजेश के बायीं तरफ से भारत के गोल में पहुंचा दिया। मध्यांतर तक इंग्लैंड की टीम 1-0 से आगे रही।

दूसरे हाफ की शुरुआत नीरस रही। भारत से वापसी की उम्मीद थी लेकिन टीम के खिलाड़ी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे।
   
पहले 10 मिनट में कोई भी टीम अच्छा मूव नहीं बना पाई। इंग्लैंड को 44वें मिनट में अपना चौथा पेनल्टी कॉर्नर मिला। एश्ले जैकसन की ड्रैग फ्लिक को तो श्रीजेश ने रोक दिया लेकिन रिबाउंड पर डिक्सन ने इसे गोल में पहुंचाकर अपनी टीम को 2-0 से आगे कर दिया।
   
भारत को 46वें मिनट में तीसरा पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन बीरेंद्र लाकड़ा की चूक से यह मौका बर्बाद हो गया। भारत को इसके बाद एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला। रूपिंदर सिंह अपनी ड्रैग फ्लिक से इंग्लैंड के गोलकीपर जॉर्ज पिनेर को छकाकर गेंद को गोल में पहुंचा दिया। इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने हालांकि इस गोल का विरोध दिया और टीवी रैफर लिया। वीडियो अंपायर मार्सिन ग्रोचेल ने इसके बाद रीप्ले देखने के बाद भारत के गोल को नकार दिया।
   
भारतीय टीम इसके बाद अंतिम लम्हों में कोई बड़ा मूव बनाने में विफल रही। इंग्लैंड को 69वें मिनट में पांचवां और अंतिम पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन टीम इसे गोल में नहीं बदल पाई।
   
भारत अपने दूसरे पूल मैच में कल न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेगा जिसे आज जर्मनी के हाथों 1-6 से करारी हार का सामना करना पड़ा। दूसरी तरफ इंग्लैंड को कल ओलंपिक चैम्पियन और दुनिया की नंबर एक टीम जर्मनी का सामना करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत की निराशाजनक शुरुआत, इंग्लैंड से 0-2 से हारा