DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांगा विशेष राज्य का दर्जा और वाजिब हक

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो। प्रदेश के राजनीतिक दलों ने वित्त आयोग से झारखंड को विशेष राज्य का दर्जा देने के साथ वाजबि हक देने की मांग रखी। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा : रॉयल्टी भीख की तरह मिलती है। राष्ट्रीय मानक की तुलना में यह प्रदेश काफी पीछे है। नक्सल, विस्थापन और पलायन की समस्या बरकरार है। कांग्रेस के राधाकृष्ण किशोर ने कहा कि 40 लाख मिट्रीक टन अनाज बाहर से मंगाना पड़ता है।

उत्पादन को बढ़ाने के लिए सिंचाई सुविधा बढ़ानी होगी। झाविमो के राजीव रंजन प्रसाद ने विशेष राज्य की मांग की। आजसू की तरफ से पूर्व कुलपति डॉ सुरेश सिंह ने कहा कि खनिजों के स्टोर हाउस के रूप में झारखंड का इस्तेमाल हो रहा है।

भाजपा के प्रेम मित्तल, कांग्रेस के केशव महतो कमलेश, आलोक कुमार दुबे, राजेश गुप्ता, झामुमो के सुप्रीयो भट्टाचार्य, आजसू के प्रवीण प्रभाकर, प्रभाकर तिर्की, डॉ शीन अख्तर, राजद के दिनेश पटेल, जदयू के कृष्णानंद मिश्र, जफर कमाल, धनंजय कुमार, संजय सहाय, सीपीआइ के खगेंद्र ठाकुर, सीएपीएम के एमके गोपीकांत ने पार्टी की तरफ से पक्ष रखा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मांगा विशेष राज्य का दर्जा और वाजिब हक