DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

20 फीसदी लोगों को भी नहीं मिला ई-राशन कार्ड

धनबाद। दो साल में महज 30 फीसदी बीपीएल परिवारों को ही ई-राशनकार्ड मिला है। करीब दो साल पहले 26 जनवरी 2012 को टुंडी के विधायक सह विभागीय मंत्री मथुरा प्रसाद महतो ने अपने विधानसभा क्षेत्र (टुंडी) के तोपचांची प्रखंड से बड़े ही ताम-झाम से ई-राशन कार्ड बांटने की शुरुआत की थी।

15 अगस्त 2012 तक जिले के सभी लोगों को कार्ड बांट दिए जाने की घोषणा भी की थी। दो साल होने को हैं और अभी 30 फीसदी बीपीएल परिवारों को ही राशन कार्ड मिला है। एपीएल कार्ड के तो अभी बांटने की शुरुआत भी नहीं हुई है।

कार्ड नहीं बनने के कारण ई- राशनिंग की शुरुआत नहीं हो रही है, न ही बायोमीट्रिक सिस्टम से बीपीएल परिवार को अनाज ही मिल पा रहा है। गोविंदपुर प्रखंड को दोनों कामों के लिए मॉडल प्रखंड के रूप में चुना गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:20 फीसदी लोगों को भी नहीं मिला ई-राशन कार्ड