DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएमए ने आंदोलन की चेतावनी दी

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। आईएमए की बिहार शाखा ने राज्य सरकार द्वारा पारित क्लिनीकल एस्टेब्लशिमेंट एक्ट, 2013 के प्रावधानों का कड़ा विरोध किया है। डॉ. राजीव रंजन प्रसाद की अध्यक्षता में शुक्रवार को यहां हुई बैठक में एसोसिएशन ने इसके खिलाफ आंदोलन चलाने का निर्णय लिया है। इसमें प्रस्ताव पास कर मुख्यमंत्री से इसके प्रावधानों में संशोधन करने की मांग की गई। एसोसिएशन का आरोप है कि यह कानून अचानक चिकित्सा क्षेत्र में कूदे बड़े व्यावसायिक घरानों के हितों के अनुकूल और चिकित्सक और जनता विरोधी है।

डॉ. प्रसाद के मुताबिक इसमें कई ऐसे अव्यवहारिक और व्यावसायिक प्रावधान किए गए हैं, जिससे लाइसेंस राज और इंस्पेक्टर राज का वर्चस्व रहेगा और चिकित्सकीय सेवा और महंगी हो जाएगी। बैठक में निर्णय लिया गया कि सभी प्रभावित चिकित्सकीय संगठनों की संयुक्त संघर्ष समिति बनाकर पूरे कानून की खामियों को सरकार और जनता के सामने उजागर किया जा सके। बैठक में डॉ. डीके चौधरी, मंजुगीता मिश्र, विजय शंकर सिंह, रमण कुमार वर्मा, डॉ. सहजानंद प्रसाद सिंह आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईएमए ने आंदोलन की चेतावनी दी