DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों के मददगारों पर एनआईए की नजर

पटना। बिहार के बड़े नक्सलियों के पास आये आधुनिक हथियारों की जांच एनआईए ने शुरू कर दी है। इसमें यह देखा जा रहा है कि उनके पास से बरामद हथियार और ग्रेनेड किस फैक्टरी में बने हैं।

इसके अलावा उनके पास से बरामद मोबाइल, सेल फोन, मैसेज, पेन ड्राइव और सीम कार्ड की भी जांच की जा रही है। साथ ही फेसबुक पर उनके समर्थकों की गतिविधियों की जांच भी एनआईए ने शुरू कर दी है। इस जांच से खुलासा होगा कि नक्सलियों के मददगार कौन-कौन लोग हैं।

औरंगाबाद के टाउन थाने में जब्त कर रखे गए आधुनिक हथियार, मोबाइल समेत अन्य सामानों को एनआईए ने अपने कब्जे में ले लिया है। एनआईए ने शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश अनिल कुमार सिंह की अनुमति लेकर बरामद सभी सामानों को सीएफएसएल जांच के लिए नई दिल्ली भेजा है।

औरंगाबाद शहर थाना क्षेत्र से 26 मार्च 2012 को बड़े पैमाने पर आधुनिक हाथियार, एसएलआर,आईएनएसएएस, एके-47 रायफल, 9 एमएम पिस्टल, 2 आरपी ग्रेनेड एस, एक ग्रेनेड लांचर, ग्रेनेड गन, ह्वाइट पाउडर, टीएमसी विस्फोटक केमिकल, तरल विस्फोटक पदार्थ,17 मोबाइल, सीमकार्ड, और पेन ड्राइव बरामद हुए थे।

कैसे बरामद हुए थे हथियारः औरंगाबाद के टाउन क्षेत्र से पुलिस ने छापेमारी कर तीन बड़े नक्सलियों अर्जुनजी, अखिलेश सिंह (जहानाबाद), उदित नारायाण (पलामू) को वर्ष 2012 में गिरफ्तार किया था। इनके पास से भारी मात्रा में आधुनिक हथियार, मोबाइल फोन और विस्फोटक सामग्री बरामद हुई थी।

इस मामले में अर्जुन जी औरंगाबाद जेल में हैं,जबकि दो उदित नारायण और अखिलेश सिंह पटना हाईकोर्ट से नियमित जमानत मिलने के बाद कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। उनके हाजिर नहीं के कारण एनआईए के विशेष न्यायाधीश ने उनका बंध पत्र खारिज कर दिया और उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। अरविंद जी समेत चार बड़े नक्सली हैं नामजद भारत सरकार के गृह मंत्रालाय के आदेश पर एनआईए ने इस घटना की नयी प्राथमिकी मार्च 2013 में दर्ज कर बिहार के नक्सली घटनाओं की जांच शुरू कर दी है।

चार बड़े नक्सलियों को नामजद अभियुक्त बनाया है। एनआईए ने जहानाबाद जेल ब्रेक कांड के माइस्टर मांइड और राज्य के चर्चित नक्सली अरविंद जी उर्फ मास्टर जी और अर्जुन जी को नामजद अभियुक्त बनाया है। अरविंदजी फरार हैं जबकि उदित नारायाण सिंह, तुलसी, तुफान और जेल में बंद अर्जुनजी नामजद अभियुक्त हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों के मददगारों पर एनआईए की नजर