DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हेमराज की विधवा ने प्रधानमंत्री को भेजा पत्र

कोसीकलां। हिन्दुस्तान संवाद। शहीद हेमराज की विधवा ने सिर काटे जाने की घटनाओं का कथित वीडियो जारी होने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। सात बिंदुओं पर सवाल उठाए हैं। साथ ही पाकिस्तान के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई ना किए जाने पर जवाब भी मांगा है।

गत वर्ष 8 जनवरी 2013 को देश की सीमा पर दुश्मनों से लोहा लेते हुए पुंछ जिले की मैंडर तहसील के गांव जरीवाला गली में रात्रि को कोहरे का फायदा उठाते हुए पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय सीमा में प्रवेश कर गस्त कर रहे भारतीय सैनिकों पर हमला बोल दिया था।

जिसमें भारतीय जांबाज सिपाही शेरनगर के शेर लांस नायक शहीद हेमराज व मध्यप्रदेश के वीर जांबाज सुधाकर का सिर काटकर व उनका कुछ सामान ले गये थे। इसके संबंध में शहीद हेमराज की प्रथम पुण्य तिथि के एक दिन बाद इंटरनेट पर जारी एक वीडियो से हड़कंप मच गया।

शुक्रवार को शहीद हेमराज के गांव शेरनगर में ग्राम वासियों ने केन्द्र सरकार के ढुलमुल रवैये को लेकर बैठक की। प्रधानमंत्री को शहीद की पत्नी धर्मवती, परिजन एवं सैकड़ो ग्रामीणों की ओर से पत्र भेजा गया।

पत्र में उन्होंने कहा है कि उस समय पाकिस्तान सरकार ने साफ मना कर दिया था कि हमारे लोग हेमराज का सिर नहीं लाये और हमने यह सहन कर लिया, लेकिन गत दिवस दिखाये गये वीडियों को देखकर हमको गहरा आघात पहुंचा है। एक वर्ष बाद हमारे घाव फिर हरे हो गये हैं।

उन्होंने पत्र के माध्यम से सात सूत्रीय मांगों में कहा है कि जब यह वीडियो अप्रैल 2013 में ही पुलिस व अधिकारियों को मिल गयी थी तो उसे दबाकर क्यों रखा गया? जब यह स्पष्ट हो गया था कि शहीद हेमराज का सिर पाकिस्तान के लोग ही ले गये थे तो भारत सरकार ने कोई ठोस कार्यवाही क्यों नहीं की ? अगर इस खबर को सरकार ने दबाया था तो उसकी कोई खास वजह, अब यह सच पूरे देश के सामने आ चुका है।

अब हम यह जानना चाहते हैं कि हमने तो अपने पति का सब्र कर लिया, लेकिन आज सवाल उन सभी मां बाप परिजनों का है जिनके बेटे देश की सीमा पर सुरक्षा में लगे है, क्या सरकार ने सभी फौज के जवानों को यह विश्वास दिलाती है कि वह उनके साथ है? क्या भारत सरकार अब इस महत्वपूर्ण प्रकरण को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर तक उठाकर कोई कार्यवाही करेगी? हम पत्र के माध्यम से जवानों के हित की सुरक्षा की गुहार करते हैं।

पत्र के माध्यम से उचित कार्यवाही की अपेक्षा भी की गई है। पत्र भेजने वालों में मुख्य रूप से हरेकशिन, गजेन्द्र सिंह, अमरचंद, पूरन, जयसिंह, धर्मवीर सिंह, रिषीपाल, भगवान सिंह, विजय सहि, जगपाल सिंह, धर्मवीर आदि प्रमुख हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हेमराज की विधवा ने प्रधानमंत्री को भेजा पत्र