DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुझे बनाएं सीएम तो कांग्रेस को होगा फायदा: हृदयेश

विशेष संवाददाता देहरादून। प्रदेश सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं के बीच संसदीय कार्य मंत्री और पहले नंबर की मंत्री डा. इंदिरा हृदयेश आज खुलकर बोली। उन्होंने साफ किया कि प्रदेश में 16 की शाम या फिर 17 को एआईसीसी की बैठक के बाद नेतृत्व परविर्तन हो जाएगा। यदि पार्टी हाईकमान सीएम के लिए उनके नाम पर विचार करे तो उससे प्रदेश में कांग्रेस को लाभ मिलेगा।

विधानसभा स्थित अपने कक्ष में पत्रकारों से बातचीत में डा. हृदयेश ने कहा कि दिल्ली में शुक्रवार को कांग्रेस की कोर ग्रुप की बैठक हुई है। इसमें राष्ट्रीय स्तर पर संगठन और प्रदेश सरकारों में फेरबदल पर चर्चा की बात सामने आई है। कांग्रेस हाईकमान की चिंता अगले संसदीय चुनाव में पार्टी की जीत को लेकर ज्यादा है। इसी कारण से प्रदेश में कांग्रेस सरकारों में परविर्तन की बात हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नेतृत्व परविर्तन पर नशि्चित निर्णय सोनिया गांधी और राहुल गांधी को लेना है।

कोर कमेटी की बैठक के बाद से नशि्चित निर्णय निकलकर नहीं आया है। कांग्रेस हाईकमान विधानसभा सत्र 16 जनवरी की शाम या फिर 17 जनवरी के बाद एक सप्ताह में नेतृत्व परविर्तन पर फैसला लेगा। यह पूछे जाने पर कि सीएम पद के लिए उनके नाम की भी चर्चा है, डा. इंदिरा ने कहा कि वह कांग्रेस के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं। वर्ष 1974 में पहली बार वे एमएलसी बनी। यहां सदन में भी वह संसदीय कार्य मंत्री की हैसियत से बखूबी अपनी भूमिका निभा रही है।

वह जानती है कि सदन में उनकी उपस्थिति जरूरी है, इसलिए वह बिना छुट्टी के लगातार सदन में मौजूद रहकर सरकार के पक्ष को मजबूती के साथ रखती हैं। डा. हृदयेश ने कहा कि उत्तराखंड अब नेतृत्व परविर्तन को लेकर प्रयोग करने की स्थिति में नहीं है। कांग्रेस को आगामी संसदीय चुनाव में पार्टी को जिताने की दृष्टि से ठोस निर्णय करने होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुझे बनाएं सीएम तो कांग्रेस को होगा फायदा: हृदयेश