DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपी में केंद्रीयकृत सूचना तंत्र होगा

गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय (आईपी) आगामी सत्र से छात्रों के लिए केंद्रीयकृत सूचना तंत्र विकसित करने जा रहा है। इस तंत्र को विकसित करने की मुख्य वजह दाखिले की प्रक्रिया के तहत आवेदकों की समस्याओं को सरल तरीके से सुलझाना है। इसके लिए हेल्पलाइन नबंर की संख्या बढ़ाने से लेकर ई-मेल आईडी भी तैयार हो रही है।

सूचना तंत्र के अलावा इस सत्र से ऑनलाइन प्रक्रिया को भी सरल करने पर विचार किया जा रहा है। आईपी विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी नलिनी रंजन ने बताया कि केंद्रीयकृत सूचना तंत्र लागू करने को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। पिछले साल की तुलना में इस साल ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन सूचना तंत्र को भी बेहतर किया जाएगा ताकि छात्रों की समस्याओं का निपटारा हो सके।

समस्याओं के ऑनलाइन निपटारे के लिए बनेगी टीम: आईपी विश्वविद्यालय प्रशासन के अनुसार पिछले कुछ सालों में दाखिले के दौरान कोर्स व अन्य विभागों से जुड़ी समस्याओं की संख्या में इजाफा हुआ है। ऐसे मे ऑनलाइन समस्या निपटारे पर भी ध्यान दे रहा है। यही वजह है कि इस साल से ऑनलाइन समस्याओं के निपटारे के लिए तीन से चार लोगों की एक टीम बनाई जा रही है। ताकि ऐसी समस्याओं को जल्द से जल्द से निपटारा हो सके।  

ऑनलाइन आवेदन करने वालों को डाक से भेजा जाएगा आवेदन पत्र: आईपी विश्वविद्यालय प्रशासन इस साल से ऑनलाइन आवेदकों को डाक के माध्मय से आवेदन पत्र भेजने पर विचार कर रहा है। प्रशासन का यह फैसला पिछले साल तक ऑनलाइन आवेदन के दौरान आवेदन पत्र डॉउनलोड होने में हो रही दिक्कत को देखते हुए लिया गया है।

हेल्पलाइन नंबर की संख्या में भी बढ़ोत्तरी होगी
पिछले साल तक आईपी विश्वविद्यालय में दाखिले से जुड़ी जानकारी के लिए तीन हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए थे। लेकिन देश भर से दो लाख से ज्यादा आवेदकों की संख्या को देखते हुए इस संख्या को बढ़ाकर छह करने की संभावना है ताकि आवेदकों को जानकारी लेने के लिए लंबा इंतजार न करना पड़े।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपी में केंद्रीयकृत सूचना तंत्र होगा