DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवदंपती अपना बेडरूम उत्तर-पश्चिम में रखें

नवदंपती अपना बेडरूम उत्तर-पश्चिम में रखें

नवदंपती का बेडरूम घर में उत्तर-पश्चिम दिशा में होना चाहिए, ताकि उनका प्यार और गहराए। फेंग्शुई के ऐसे कई उपाय हैं, जो आपके जीवन में खुशहाली ला सकते हैं।

डाइनिंग टेबल वृर्ताकार या आयताकार हो सकती है। लेकिन यह गोल नहीं होनी चाहिए। गोल टेबल पर पारिवारिक सदस्य एक साथ बैठकर भोजन नहीं कर पाते। इसे वास्तु के अनुरूप नहीं माना जाता।

डाइनिंग टेबल के आसपास दीवारों पर युद्घ, आखेट (शिकार), भूखे-नंगे, उदास व रोते हुए बच्चों को दर्शाने वाले चित्र नहीं होने चाहिए।

दक्षिण अथवा दक्षिण-पश्चिम की ओर मुंह करके भोजन अगर ग्रहण किया जाता है तो वह पित्तरों को चला जाता है।

नीला रंग जल तत्व का प्रतिनिधित्व करता है, इसलिए जल तत्व के सारे गुण इसमें समाहित हैं। पानी की तरह चंचल, गतिमान और जीवनदायिनी शक्ति प्रदान करता है नीला रंग।

फेंग्शुई में नीले रंग को प्रगति और सकारात्मक परिवर्तन का रंग बताया गया है। इस रंग का अगर उचित तरीके से प्रयोग किया जाए तो यह भवन व उसमें निवास करने वाले सदस्यों को स्वास्थ्य लाभ, चिंता से मुक्ति और आर्थिक व बौद्घिक प्रगति प्रदान करता है।

रुके हुए व्यवसाय, करियर या निजी संबंधों को फिर से गति प्रदान करने में सहायक होता है नीला रंग।

सफेद टाइगर फेंग्शुई की यिन ऊर्जा यानी स्त्री शक्ति का बेहद प्रभावशाली स्त्रोत है। घर का दायां हिस्सा अगर बाएं हिस्से की तुलना में कुछ उभरा हुआ हो तो उस स्थिति में यह गैजेट सौभाग्य एवं समृद्घि भी प्रदान करता है।

नवदंपती का बेडरूम उत्तर-पश्चिम दिशा में बनाना चाहिए। यह दिशा वायु देवता की है। इस दिशा में बना शयन कक्ष नव युगल के बीच उत्पन्न होने वाले प्यार को हवा देगा, यानी उनके संबंधों को और बेहतर व सुखमय बना देगा।

आजकल यह प्रचलन हो गया है कि युगल अपने बेड के समक्ष बडा-सा शीशा लगाने लगे हैं। ऐसा नहीं करना चाहिए। शयन कक्ष में शीशा नहीं लगाना चाहिए, खासकर बेड के सामने तो बिल्कुल भी नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नवदंपती अपना बेडरूम उत्तर-पश्चिम में रखें