DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कच्छ की रेत पर मस्ती बिखेरता रण-उत्सव

कच्छ की रेत पर मस्ती बिखेरता रण-उत्सव

गुजरात के कच्छ में हर वर्ष आयोजित होने वाला रण उत्सव दुनियाभर के पर्यटकों को खूब आकर्षित करता है। अगर आप भी इस उत्सव का आनन्द पाना चाहते हैं तो आगामी 15 फरवरी तक यहां पहुंच सकते हैं। यहां कैसे जाएं, मेले का भरपूर आनन्द कैसे पाएं, बता रहे हैं दीपक दुआ

गुजरात के कच्छ का सफेद रण अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में लोकप्रियता पा चुका है। यहां हर साल आयोजित किए जाने वाले ‘रण-उत्सव’ में अब पूरे देश और दुनियाभर से टूरिस्ट आने लगे हैं।

कैसे पहुंचे
दिल्ली से जाएं तो नजदीकी एयरपोर्ट अहमदाबाद है, जहां से सड़क के रास्ते करीब 403 किलोमीटर का रास्ता तय कर रण उत्सव में पहुंच सकते हैं। मुंबई से आने वालों के लिए करीबी एयरपोर्ट भुज है, जहां से करीब 79 किलोमीटर दूर गुजरात के बन्नी क्षेत्र के आखिरी गांव धोरड़ो से आगे है यह विशाल सफेद रेगिस्तान, जहां हर साल रण-उत्सव आयोजित किया जाता है। ट्रेन से जाना चाहें तो दिल्ली से 26 घंटे का सफर तय कर सीधे भुज पहुंचा जा सकता है।

रहने का इंतजाम
पर्यटकों के रहने के लिए एक विशाल टैंट सिटी बसाई गई है, जिनमें एयरकंडिशन, हीटर, पंखा, ठंडा-गर्म पानी, दो पलंग, कालीन और तमाम सुविधाएं मौजूद हैं। पूरी नगरी सीसीटीवी कैमरों और सुरक्षा गार्डो की चौकस नजरों में रहती है।

कच्छ के रंग
धोरड़ो गांव में आप पारंपरिक घर ‘भुंगा’ देख सकते हैं, जो अपनी विशिष्ट गोलाकार आकृति के चलते बड़े से बड़ा भूकंप भी झेल जाते हैं। यहां की कला-संस्कृति, इतिहास, हस्त-कलाएं, मिट्टी और गधे के गोबर को मिला कर बनने वाले मड-आर्ट जैसे तमाम नमूने देखे जा सकते हैं।

रण में है बात
टैंट सिटी से करीब तीन-चार किलोमीटर दूर स्थित सफेद रण को किसी भी समय देखिए, वह आनंद ही देता है। ज्यादातर लोग यहां शाम को आते हैं, ताकि पश्चिम में विदा होते सूरज के पल-पल बदलते रंगों की छाया में रण के रंग देख सकें।

मौज-मजा और मस्ती
यहां विशाल मैदान में पैरा-सेलिंग और पैरा-मोटरिंग जैसी रोमांचक खेल गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। रात में यहां के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लुत्फ भी उठाया जा सकता है।

रण-उत्सव
कब तक
: 15 फरवरी तक
कहां: कच्छ, गुजरात
नजदीकी हवाई अड्डा: अहमदावाद व भुज
भुज से कच्छ की दूरी: लगभग 70 किमी
नजदीकी रेलवे स्टेशन: भुज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कच्छ की रेत पर मस्ती बिखेरता रण-उत्सव