DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजनीतिक पारा रहा गर्म, अपराधकर्म से पुलिस रही परेशान

बगोदर धर्मेन्द्र पाठक। बगोदर प्रखंड में कई खट्टी-मीठी यादें छोड़ गया गुजरता हुआ साल। राजनीतिक पारा यहां सालों भर चढ़ा रहा। पुलिस को जहां कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा, वहीं कई सफलताएं भी पुलिस को हाथ लगीं। पुलिस के क्रिया-कलापों के खिलाफ इस बार लोगों ने सड़क पर उतरने का काम किया। बगोदर प्रखंड क्षेत्र का सबसे बड़ी बैंक राशि लूट की घटना का अंजाम इसी साल के मई मे दिया गया। बगोदर एसबीआई से 18 लाख रुपए बगोदर झारखंड ग्रामीण बैंक शाखा ले जाने के क्रम में बाइक सवार तीन बदमाशों ने लूट लिए।

बगोदर पुलिस ने डकैती की योजना बनाते चार बदमाशों को भी दबोचने में और भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थो को जब्त करने में सफलता हासिल की। बगोदर पुलिस ने ईमानदारी की भी मिसाल कायम की है। सड़क दुर्घटना के बाद एक निजी वाहन पर पड़े एक लाख रुपए को पुलिस ने बरामद करते हुए वाहन के मालिक को सौंपा। बगोदर के तत्कालीन थाना प्रभारी रंजीत कुमार सिन्हा के क्रिया-कलापों से क्षुब्ध बगोदर के लोगों ने न सिर्फ सड़क पर उतरने का काम किया, बल्कि भूख हड़ताल भी की।

हालांकि थानेदार को किसी कारण लाइन हाजिर होना पड़ा। दहेज के लिए विवाहिता की हत्या, दहेज उत्पीड़न, मारपीट, गृह डकैती आदि घटनाएं भी होती रही। सड़क दुर्घटनाओं में दर्जनों लोगों की असमय जान चली गयी वहीं दर्जनों लोग घायल हुए। साल 2013 में बगोदर थाना में छोटी-बड़ी कुल लगभग 6 सौ मामले दर्ज किए गए हैं ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजनीतिक पारा रहा गर्म, अपराधकर्म से पुलिस रही परेशान