DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार के निर्णय से गन्ना किसानों में आक्रोश

मुजफ्फरपुर, प्रमुख संवाददाता। चीनी मिलों को सीधे गन्ना भेजे जाने पर रोक लगने से बड़े किसानों में आक्रोश है। चीनी मिल प्रबंधनों के साथ हुई बैठक के बाद गन्ना विभाग के प्रधान सचवि के इस निर्णय का कई किसानों ने विरोध किया है। किसान प्रतिनिधि भोलानाथ झा ने बिचौलियों के बहाने चीनी मिलों को सीधे गन्ना भेजे जाने पर रोक से नाराजगी जतायी है। उन्होंने कहा कि पहले जहां प्रतिदिन जिले से 70 ट्रक गन्ना सीधे चीनी मिलों को भेजा जाता था, वहीं अब इस निर्णय से सिर्फ 24 ट्रक गन्ना भेजा जाएगा।

इससे बड़े किसानों को भारी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि जिले के किसान नंदकिशोर राय, साकेत बिहारी, मनोज राय, अजय शंकर सिंह, प्रेम कुमार सिन्हा, शत्रुघ्न राय और डॉ. महबूब सहित दर्जनों किसानों का गन्ना अब खेतों में ही पड़ा रह जाएगा। जिले में सिर्फ आठ केन्द्र अधिकृत हैं। चीनी मिल प्रबंधन प्रतिदिन सिर्फ यहां तीन ट्रक उपलब्ध करा पाएंगे। जबकि इस वर्ष ईंख के अत्यधिक उत्पादन के कारण अभी प्रतिदिन 70 ट्रक ईंख चीनी मिलों को भेजा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार के निर्णय से गन्ना किसानों में आक्रोश