DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुधारनी होगी देहात क्षेत्र की बिजली व्यवस्था

आगरा, प्रमुख संवाददाता

ग्रामीण क्षेत्र की बिजली समस्याओं को लेकर बसपा नेताओं ने गुरुवार को कैम्प लगाया। तत्कालीन ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के नविास पर लगे कैम्प में लोगों ने अपने समस्याएं रखीं। पार्टी नेताओं ने इनके जल्द निदान का आश्वासन दिया। सांसद सीमा उपाध्याय ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में बिजली कटौती बड़ी समस्या है। कहा गया कि किसी भी गांव के ट्यूबवेल या भट्टे की बिजली न काटी जाए।

कटी बिजली को जोड़ा जाए। ट्यूबवेल के बिल फसल आने पर ही जमा किए जाएं। कागारौल व खेरागढ़ बिजलीघर ओवरलोड की मार ङोल रहे हैं। इन पर विशेष ध्यान दिया जाए। पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय ने कहा कि मलपुरा का 132 केवीए बिजलीघर पर छह से दस घण्टे की रोस्टिंग चल रही है, इसे तत्काल रोका जाए। देहात क्षेत्र में 25 और 63केवी क्षमता वाले डेढ़ सौ से ज्यादा ट्रांसफार्मर फुंके पड़े हैं, इन्हीं बदला जाए। बसपा शासनकाल के दौरान कई बिजलीघर स्वीकृत हुए थे।

इनमें से करीब दस का जमीन न मिलने सहित अन्य कारणों के चलते निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है, इन्हें तत्काल चालू किया जाए। जिलाध्यक्ष आजाद सिंह ने कहा कि पूर्व में किसान को साढ़े 12 हजार रुपये जमा करने पर ट्यूबवेल दे दिया जाता था लेकिन यह योजना बंद कर दिया गया, इसे फिर से शुरू किया जाए। कुछ इलाकों को साजशिन डार्क जोन घोषित कर दिया गया है, इन्हें तत्काल ही सामान्य क्षेत्र घोषित किया जाए। टीटीजेड योजना के तहत कुछ इलाकों में बिजली का दोगुना बिल वसूला जा रहा है, इन्हें तत्काल एकल किया जाए।

कार्यक्रम में पार्टी के विधायक व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुधारनी होगी देहात क्षेत्र की बिजली व्यवस्था