DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में होंगी तीन हजार भर्तियां

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में जल्द ही तीन हजार जवानों की भर्ती होगी। पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए गृह मंत्रालय को प्रस्ताव भेज दिया है। ट्रैफिक स्टाफ की कमी के कारण नई योजनाएं प्रभावित हो रही हैं। गृह मंत्रलय की मंजूरी मिलने के बाद तीन बटालियन ट्रैफिक पुलिस के बेड़े में शामिल हो जाएंगी। इसके बाद इन्हें तीन सप्ताह का विशेष ट्रैफिक प्रशिक्षण दिया जाएगा।

करनी पड़ती है लंबी ड्य़ूटी: एकल शिफ्ट के कारण ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को लंबी डय़ूटी करनी पड़ती है। इससे उन्हें शारीरिक और मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है।

दिल्ली की तुलना दूसरे मेट्रो शहरों से करें तो यहां वाहनों की संख्या और ट्रैफिक पुलिस का अनुपात पूरी तरह असंतुलित दिखता है। दिल्ली में दर्ज वाहनों के अलावा यहां से रोजाना गुजरने वाली गाड़ियों को मिलाएं तो वाहनों की संख्या करीब 96 लाख तक पहुंच जाती है। अन्य महानगरों के मुकाबले दिल्ली में वाहनों की यह संख्या सबसे अधिक है। इतने जटिल ट्रैफिक सिस्टम को संभालने के लिए केवल तीन हजार  पुलिसकर्मियों का ही स्टाफ है।

भर्तियां क्यों जरूरी: ट्रैफिक पुलिस का कुल स्टाफ भले ही साढ़े पांच हजार है, लेकिन फील्ड में तीन हजार जवान ही तैनात रहते हैं। वर्ष 2012 में 34 लाख और पिछले साल 39 लाख वाहनों का चालान दर्शाता है कि ट्रैफिक पुलिस का एक बड़ा हिस्सा ट्रैफिक नियमन की बजाए प्रवर्तन डय़ूटी पर तैनात रहता है।

इसके अलावा 71 हजार से ज्यादा वाहनों का जब्त होना, बयां करता है कि इस काम में कितने पुलिसकर्मी लगे होंगे। इन सब दिक्कतों के मद्देनजर स्टाफ बढ़ाने की कवायद शुरू की गई है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में होंगी तीन हजार भर्तियां