DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्ट्रेचिंग के विभिन्न तरीके

व्यायाम से पहले स्ट्रेचिंग करना जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी यह भी है कि स्ट्रेचिंग को सही तरीके से और व्यायाम के अनुरूप किया जाए।

क्वाड्रिसेप्स स्ट्रेच
जब आप साइकिल चलाते हैं, दौड़ते हैं, एरोबिक्स, शरीर के निचले हिस्से के व्यायाम के लिए किसी मशीन का इस्तेमाल करते हैं तो उस समय आपके क्वाड्रिसेप्स क्रियाशील होते हैं। जब यह मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं, उस समय घुटनों या कूल्हों के आसपास के क्षेत्र में चोट लगने का खतरा भी बढ़ जाता है।

तरीका: दोनों पैरों पर सीधे खड़े हों और संतुलन बनाने के लिए किसी मजबूत चीज को पकड़ लें। दाईं एड़ी को पकड़ें और घुटने को पीछे की ओर मोड़ते हुए एड़ी को कूल्हे तक ले जाएं। इसके बाद यही क्रिया दूसरी टांग से दोहराएं।

एब्डॉमिनल स्ट्रेच
एब्डॉमिनल मसल्स यानी उदर की मांसपेशियां, जिनमें सबसे अंदर की मांसपेशियां भी शामिल हैं, लगातार एब वर्कआउट से सख्त हो जाती हैं।

तरीका: पेट के बल लेट जाएं और आपके हाथ कंधों के नीचे हों। इसके बाद अपने सिर और कंधों को बाजुओं के दम पर ऊपर उठाएं। कमर का हिस्सा जमीन पर ही टिका रहना चाहिए। इस व्यायाम में खिंचाव पेट की सामने वाली मांसपेशियों में महसूस होता है।

हिप-फ्लैक्सर स्ट्रेच
हिप फ्लैक्सर्स कूल्हों और उनके ऊपरी हिस्सों की मांसपेशियों का एक समूह होता है। हिप फ्लैक्सर्स आपके घुटनों को सीने तक ले जाते हैं और टांगों को आगे से पीछे और दाईं-बाईं ओर भी ले जाते हैं। चूंकि अधिकांश लोग दिन भर दफ्तर में बैठ कर काम करते हैं, इस कारण हिप फ्लैक्सर्स के सख्त और चोटिल होने का खतरा बना रहता है। धावकों और साइकिल चालकों को इन मांसपेशियों को दुरुस्त रखने की दिशा में खास ध्यान देना चाहिए। सख्त हिप फ्लैक्सर्स के कारण पीठ में दिक्कत आ सकती है। कूल्हे के अग्र भाग में झुकाव आ सकता है। झुकाव ज्यादा आ जाए तो यह आपकी शारीरिक मुद्रा के लिए ठीक नहीं होगा और पीठ दर्द का भी कारण बनेगा।

तरीका: झुकें। अपना बायां पैर आगे ले जाएं और हाथ कमर या जांघों पर रखें। बाएं पैर पर बोझ देते हुए ध्यान रहे कि टांग की मांसपेशियां कड़ी हों। अपनी पीठ को कोशिश करके सीधा रखें। खिंचाव आपको महसूस होना चाहिए। इसके बाद दाएं पैर से यह प्रक्रिया दोहराएं।

 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्ट्रेचिंग के विभिन्न तरीके