DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनमोहन पर चुटकी, छह माह में आएंगे अच्छे दिन: मोदी

मनमोहन पर चुटकी, छह माह में आएंगे अच्छे दिन: मोदी

गुजरात के मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बयान का समर्थन करते हुए प्रवासी भारतीय समुदाय को देश के उज्जवल भविष्य को लेकर आश्वस्त किया और कहा कि डॉ सिंह का कहना सही है कि किसी को निराश होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अच्छे दिन आने वाले हैं।

मोदी ने यहां प्रवासी भारतीय सम्मेलन के समापन के पहले राज्यों में निवेश की संभावनाओं पर आयोजित एक सत्र में कहा कि प्रधानमंत्री ने एक बात बिल्कुल सही कही है कि किसी को निराश होने की जरूरत नहीं है, अच्छे दिन आने वाले हैं। उन्होंने लोकसभा के आसन्न चुनावों की ओर इशारा करते हुए कहा कि अच्छे दिन आने में अब चार से छह महीने ही बचे हैं।

मोदी ने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि देश में असली समस्या नजरिये को लेकर है। भ्रष्टाचार के संबंध में भ्रष्टाचार करने वालों को पकड़ने और उनकी जवाबदेही तय करने को लेकर चर्चा हो रही है, लेकिन भ्रष्टाचार मुकत माहौल बने, इसके लिये कोई बात नहीं कर रहा है। उन्होंने देश में नीति आधारित निष्पक्ष प्रशासन को भट्राचार को रोकने का सबसे असरदार मंत्र बताते हुए कहा कि ऑनलाइन फाइल ट्रैकिंग व्यवस्था और पक्षपात की गुंजाइश को पूरी तरह से खत्म करने से ऐसा माहौल बनेगा कि कोई भ्रष्टाचार नहीं कर  पाएगा।

मुख्यमंत्री ने गुजरात के प्रयोगों का उदाहरण देते हुए नौकरी के इंटरव्यू को भ्रष्टाचार का एक बड़ा आधार बताया और कहा कि गुजरात में रोजगार देने के लिये योग्य उम्मीदवारों की मेरिट बनाकर बिना साक्षात्कार लिये भर्ती की प्रणाली लागू की गई जिससे भ्रष्टाचार रोकने में मदद मिली।

मोदी ने देश में उद्यमिता के विकास की योजना पर अपने विचार सामने रखते हुए कहा कि देश के युवाओं को उद्यमिता के लिए प्रेरित करने के लिए विशेष अभियान चलाने और नवोन्वेशी क्षेत्रों को युवा नवउद्यमियों के लिए आरक्षित किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन को ऐसे ही एक नये उद्यम के तौर पर विकसित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि उद्योगों के लिए ढांचागत सुविधाओं को लेकर भी नयी जरूरतों का भी ध्यान रखा जाना चाहिए। सड़क,. बिजली, पानी के अलावा आप्टिकल फाइबर केबल नेटवर्क, मानव संसाधन प्रबंधन, कौशल विकास प्रशिक्षण, .केन्द्र और वित्तीय प्रबंधन की प्रणाली भी ढांचागत विकास का अंग है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मनमोहन पर चुटकी, छह माह में आएंगे अच्छे दिन: मोदी