DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्यायपालिका के कार्यों में सरकार का हस्तक्षेप क्यों: भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उत्तर प्रदेश इकाई ने गुरुवार को प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार से पूछा कि यह न्यायालय की भूमिका क्यों निभाना चाहती है? इसने सवाल किया कि जनहित के नाम पर मुकदमा वापसी का खेल-खेल रही समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार को पहले आतंक के आरोपी तो अब दुष्कर्म के आरोपी क्यों भा रहे हैं।

पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि सरकार के मंत्री मनोज पारस के खिलाफ दर्ज हुआ दुष्कर्म का मामला वापस लेने का प्रयास क्यों किया जा रहा है। सरकार अपना कामकाज तो ठीक से कर नहीं पा रही है अब न्यायालिका की भूमिका भी निभाने लगी है।

उन्होंने कहा कि वोट बैंक को सहेजने में जुटी अखिलेश सरकार कभी आतंक के आरोपियों के खिलाफ मुकदमा वापस लेने लगती है तो कभी मुजफ्फरनगर दंगों के संबंध में अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों पर दर्ज हुए मुकदमे वापस लेने का प्रयास कर रही है।

पाठक ने आरोप लगाते हुए कहा कि पिछली वित्तीय वर्ष के दौरान अपने विकास का बजट न खर्च कर पाने की आरोपी अखिलेश सरकार में विकास के दावे तो लाख हो रहे हैं पर विकास कार्य ठप्प पड़े हैं। जनहित की अनदेखी करती सरकार में जनसुनवाई हो नहीं रही है।

पाठक ने कहा कि मुकदमा वापसी का खेल खेलकर सरकार अन्य मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास कर रही है। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार मनोज पारस के खिलाफ दर्ज किए गए दुष्कर्म के मामले को वापस लेने की तैयारी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:न्यायपालिका के कार्यों में सरकार का हस्तक्षेप क्यों: भाजपा