DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रांची महिला कॉलेज की सुरक्षा भगवान भरोसे

रांची। संवाददाता। रांची वीमेंस कॉलेज की सुरक्षा भगवान भरोसे है। मंगलवार की घटना के बाद भी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं दिखा। लड़के कॉलेज में बेरोक-टोक आ-जा रहे थे। गेट से गार्ड नदारद था। आदिवासी हॉस्टल के छात्र भी बेखौफ टूटी दीवार से आना-जाना कर रहे थे। छात्राओं का कहना है हॉस्टल के छात्र आते-जाते लड़कियों पर फब्बतियां कसते हैं।

छेड़छाड़ करते हैं। वहीं, कॉलेज प्रशासन का कहना है कि कैंपस और छात्राओं की सुरक्षा के लिए पुलिस को कई बार रिमाइंडर भेजा गया। लेकिन अब तक उनकी ओर से सुरक्षा का इंतजाम नहीं किया गया। नहीं था गार्डबुधवार को भी लड़के कॉलेज कैंपस में आना-जाना कर रहे थे। उन्हें कोई रोकने वाला नहीं था। कॉलेज के मेन गेट से गार्ड नदारद दिखा। वह कैंपस में बैठकर अखबार पढ़ रहा था। गार्ड का कहना है कि रोजाना सैकड़ो लोग आते जाते रहते हैं, कितने लोगों को रोकेंगे।

रोकने के बाद भी लोग नहीं मानते। उल्टे धमकाकर अंदर चले जाते हैं। हर कॉलेज में रखना था शिकायत पेटीकॉलेजों में लड़कियों से छेड़छाड़ के बढ़ रहे मामले को देखते हुए सिटी एसपी ने सभी कॉलेजों में शिकायत पेटी रखने का निर्देश दिया था। ताकि लड़कियां अपनी शिकायतें इसमें डाल सके। किसी महिला कॉलेज में शिकायत पेटी नहीं है। मिलकर धुनना चाहिए थामंगलवार की घटना से कॉलेज की छात्राओं में उबाल है। उनका कहना है कि लड़कों की हिम्मत कैसे हुई लड़कियों पर हाथ उठाने की।

सभी छात्राओं को मिलकर आदिवासी हॉस्टल के लड़कों की जमकर धुनाई करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि घटना के लिए कॉलेज और पुलिस प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रांची महिला कॉलेज की सुरक्षा भगवान भरोसे