DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलगेट मामले में पूर्व सांसद के घर छापेमारी

धनबाद, वरीय संवाददाता। कोल ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले में बुधवार को सीबीआइ की टीम ने पूर्व सांसद स्वर्गीय परमेश्वर अग्रवाल के घर छापेमारी की। दिल्ली की दो सदस्यीय सीबीआइ टीम ने सुबह साढ़े नौ बजे धया स्थित सांसद के बेटे अनूप अग्रवाल के घर में दबशि दी।

केंद्र सरकार ने 21 जून 1996 में बीएलए इंडस्ट्रीज एवं केस्ट्रान माइनिंग को मध्य प्रदेश में गोटीटोरिया (ईस्ट) व गोटीटोरिया (वेस्ट) में दो कोल ब्लॉक आवंटित किया था। कोल ब्लॉक मध्यप्रदेश में महापानी कोलफील्ड में स्थित है। कंपनी के निदेशक स्वर्गीय परमेश्वर अग्रवाल के बेटे अनूप अग्रवाल हैं। कैग ने देश में ऐसे कोल ब्लॉकों को चहि्न्ति किया था। सीबीआइ की टीम घंटों अग्रवाल के घर पर छानबीन की। धनबाद के अलावा टीम ने अनूप अग्रवाल के नरसिंघपुर (एमपी), कोलकाता, दिल्ली, भोपाल और मुंबई के ठिकानों पर भी दबशि दी।

सीबीआइ ने दोनों कंपनी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। इसमें कई सरकारी अधिकारियों पर भी नकेल कसने की तैयारी है। सीबीआइ ने आरोप लगाया है कि दोनों कोल ब्लॉकों के कोयले का बेजा इस्तेमाल किया गया है। धैया स्थित घर में मिले दस्तावेजों के साथ-साथ सीबीआइ ने अग्रवाल के लैपटॉप और कंप्यूटर को भी खंगाला। दस्तावेज सहित अन्य सामान को जब्त कर टीम अपने साथ ले गई। टीम में शामिल सदस्यों ने जांच को पूरी तरह से गोपनीय रखा।

इस संबंध में पूछने पर वे कुछ बताने से बचते रहे। 9.24 मीलियन टन कोयला का था भंडार सीबीआइ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अग्रवाल को दिए गए कोल ब्लॉक गोटीटोरिया (ईस्ट) में 5.15 व गोटीटोरिया (वेस्ट) में 4.19 मिलियन टन कोयला के भंडार होने का अनुमान लगाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोलगेट मामले में पूर्व सांसद के घर छापेमारी