DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेविका और सहायिका के आंदोलन में दम नहीं- सुषमा

हिलसा। निज संवाददाता। हक और अधिकार के लिए आंगनबाड़ी केन्द्र की सेविका और सहायिका द्वारा गत 6 जनवरी से शुरू किये गये आंदोलन में कोई दम नहीं है। ऐसा दावा हिलसा के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (सीडीपीओ) सुषमा कुमारी की है। उन्होंने बताया कि बेमियादी हड़ताल पर जाने के आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं का कोई असर हिलसा में नहीं दिख रहा है। कुछेक को छोड़ अधसिंख्य आंगनबाड़ी केन्द्र सुचारू ढंग से संचालित हो रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में कुल एक सौ बाइसठ आंगनबाड़ी केन्द्र हैं। हर रोज आंगनबाड़ी केन्द्रों की जांच सुपरवाइजर के अलावा मेरे द्वारा किया जा रहा है। सीडीपीओ के मुताबिक बुधवार को कुल चौंतीस आंगनबाड़ी केन्द्रों की जांच की गयी। इसमें से छब्बीस केन्द्र खुले पाये गये।

जबकि आठ केन्द्र बंद मिला। उन्होंने बताया कि बंद पाये गये केन्द्रों के संबंध में उच्चाधिकारी के पास अग्रतर कार्रवाई के लिए रिपोर्ट भेज दी गयी। इधर अपनी मांगों को मनमाने के लिए आंदोलनरत आंगनबाड़ी केन्द्र की सेविका और सहायिकाओं ने शहर के महंथ विद्यानंद कॉलेज में विशेष बैठक की।

इसमें जुटीं सेविका और सहायिकाओं ने एक स्वर से आंदोलन में साथ रहने की बात कहीं। साथ ही मांगें माने जाने तक आंदोलन जारी रखने पर बल दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेविका और सहायिका के आंदोलन में दम नहीं- सुषमा